ट्रंप राज में सोने ने दिया 143% का रिटर्न, Gold निवेशकों को क्यों है ट्रंप से प्यार

इसे ट्रंप की खुशकिस्मती कहे या फिर इत्फाक निवेशकों के साथ-साथ सोना हमेशा ट्रंप के लिए फायदे का सौदा साबित हुआ है।

ऐसे में पत्रिका ने मार्केट एक्सपर्ट्स से जानना चाहा कि क्या आगे भी ट्रंप और सोने का कनेक्शन जारी रहेगा या इसपर लगाम लगेगी।

Manish Ranjan

24 Feb 2020, 06:19 PM IST

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आज से दो दिन के भारतीय दौरे पर हैं। इसे इत्तफाक कहें या ट्रंप का गोल्ड कनेक्शन कि आज ही सोना अपने अबतक के सबसे उच्चतम स्तर पर बंद हुआ है। भारतीय बाजार में सोना 43,000 प्रति दस ग्राम के पार चला गया तो वही अमेरिकी मार्केट में गोल्ड की कीमतें 1683 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच चुकी हैं। आकड़ों के मुताबिक ट्रंप जबसे अमेरिका के राष्ट्रपति बने हैं तबसे सोने ने निवेशकों को 143% ( भारतीय बाजार में) का रिटर्न दिया है। तो वहीं अमेरिकी बाजार में सोने ने निवेशकों को 120 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दिया है। चूकिं अब अमेरिकी चुनाव में कम ही समय रह गया है। ऐसे में पत्रिका ने मार्केट एक्सपर्ट्स से जानना चाहा कि क्या आगे भी ट्रंप और सोने का कनेक्शन जारी रहेगा या इसपर लगाम लगेगी।

नंवबर 2016 से अबतक का रिटर्न ( भारतीय बाजार )

सोने के दाम साल अब रिटर्न
31,079 रुपए/10 ग्राम नंवबर 2016 44,472 रुपए/10 ग्राम 143%

नंवबर 2016 से अबतक का रिटर्न ( अमेरिकी बाजार )

सोने के दाम साल अब रिटर्न
1400 डॉलर/औंस नंवबर 2016 1683 120%

ट्रंप से क्या है गोल्ड का कनेक्शन

दरअसल साल 2016 में जब डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन के बीच कड़ी टक्कर चल रही थी। तो बुलियन मार्केट के निवेशक की पहली पंसद ट्रंप ही थे, जबकि इक्विटी मार्केट के निवेशकों की पसंद हिलेरी क्लिंटन थी। जैसे जैसे ट्रंप की दावेदारी बढ़ती गई वैसे वैसे सोने के दाम में तेजी दर्ज होती गई। केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया के मुताबिक अमेरिकी चुनाव के दौरान इक्विटी मार्केट में अनिश्चितता का माहौल बना हुआ था जिसका फायदा सोने को मिलता चला गया। यही वजह रही जिस दिन ट्रंप की जीत हुई उसी दिन अमेरिकी बाजार में एक दिन में सोने में निवेशकों को 4.5 फीसदी का रिटर्न मिला।

आगे भी जारी रहेगा ट्रंप को गोल्ड कनेक्शन

एंजल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट (कमोडिटी एंड रिसर्च) अनुज गुप्ता ने पत्रिका को बताया कि जिस तरह का जियो पॉलिटिकल टेंशन का महौल अभी बना हुआ है। ऐसे में अगर ट्रंप दोबारा भी राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो गोल्ड निवेशकों को इसका फायदा मिलता रहेगा। गुप्ता के मुताबिक ऐसा देखा गया है कि जब भी ग्लोबल लेबल पर किसी इवेंट की वजह से उठापटक होता है तो इसका सीधा फायदा सोने में निवेश करने वालों को मिलता है। गुप्ता ने आगे कहा कि इसे ट्रंप की खुशकिस्मती कहे या फिर इत्फाक निवेशकों के साथ-साथ सोना हमेशा ट्रंप के लिए फायदे का सौदा साबित हुआ है।

Donald Trump
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned