पढ़ने गई बेटी के साथ भेंजे 12 नौकर, लाखों की तनख्वाह वाले पद के लिए और मांगे जा रहे आवेदन

एक भारतीय अरबपति ने अपने बेटी को यूके के स्कॅाटिश यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए भेजा है।

By: Ashutosh Verma

Published: 11 Sep 2018, 03:32 PM IST

नर्इ दिल्ली। आज देश में कर्इ एेसे बच्चे हैं जिन्हें प्राथमिक शिक्षा तक मिलना दूर की कौड़ी साबित हो रही है। इसी समय देश में कर्इ एेसे बच्चे भी हैं जो भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में मोटी रकम खर्च कर पढ़ार्इ कर रहे हैं। लेकिन क्या आप ये सोच सकते है कि कोर्इ व्यक्ति अपने बेटी को विदेश में पढ़ाने के लिए 12 नौकर-चाकर की एक टोली भी भेजेगा? शायद नहीं। लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एेसा ही एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। एेसे ही एक भारतीय अरबपति ने अपने बेटी को यूके के स्कॅाटिश यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए भेजा है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि ये लड़की यूके की सबसे अमीर छात्रा है। इस लड़की की देखभाल करने के लिए उसके पिता ने उसके 12 नौकरों की एक टोली भेजी है।


नौकरों की नियुक्ति के लिए निकाला गया विज्ञापन
ये लड़की पूर्वी स्काॅटलैंड के सेंट एंड्रयू यूनिवर्सिटी में स्नातक की पहले साल की छात्रा है। इस लड़की के साथ एक हाउस मैनेजर, 3 हाउसकीपर, 1 माली, 1 लेडी मेड आैर 1 बटलर होगा। यही नहीं इसके साथ तीन फूटमेन एक शेफ आैर एक चाॅफर भी होगा। ये सभी कर्मचारी लड़की के साथ एक बेहद ही शाही घर में रहेंगे। इस अरबपति परिवार ने अपने बेटी के लिए ये व्यवस्था इसलिए किया है ताकि उनकी बेटी को यूनिवर्सिटी के हाॅस्टल में नहीं रहना पड़े। सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि इस लड़की के साथ मेड को भेजने के लिए बकायदे विज्ञापन निकाला गया था।


इतनी मिलेगी नौकरी के लिए सैलरी
विज्ञापन में कहा गया था कि घर में काम करने के लिए एक हंसमुख आैर उर्जावान नौकरानी की जरूरत है। साथ ही विज्ञापान में ये भी लिखा गया था कि इस काम के लिए प्रमुख जिम्मेदारियों में लड़की को उठाना, दूसरे स्टाॅफ के साथ मिलजुलकर काम करना होगा। ये कर्मचारी लड़की के वाॅर्डरोब प्रबंधन आैर व्यक्तिगत खरीदारी के लिए भी जिम्मेदार होगा। इन भर्ती के लिए एक एजेंसी सिल्वर स्वान की मदद ली गर्इ थी। लड़की के साथ भेजे गए बटलर छात्र के कर्मचारियों का प्रभारी होगा। इस अल्ट्रा हार्इ नेटवर्थ वाले परिवार ने अपनी बेटी के लिए जो कर्मचारियों की भर्ती पूरे आैपचारिक तौर पर किया है। इन कर्मचारियों को सालाना 30,000 पाउंड की सैलरी भी दी जाएगी।

Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned