scriptBad news for Jet Airways, loss of Rs 1,323 crore in first quarter | जेट एयरवेज के लिए बुरी खबर, हुआ 1,323 करोड़ रुपए का घाटा | Patrika News

जेट एयरवेज के लिए बुरी खबर, हुआ 1,323 करोड़ रुपए का घाटा

सोमवार को कंपनी के निदेशक मंडल की मुंबई में हुई बैठक में वित्तीय परिणामों को मंजूरी दी गई।

नई दिल्ली

Updated: August 28, 2018 08:13:29 am

नई दिल्ली। विमान ईंधन की बढ़ी कीमतों और डॉलर के मुकाबले रुपए में आयी गिरावट से देश की दूसरी सबसे बड़ी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 1,323 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में उसने 53.50 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफ कमाया था। कंपनी के निदेशक मंडल की सोमवार को मुंबई में हुई बैठक में वित्तीय परिणामों को मंजूरी दी गई। परिणामों के अनुसार 30 जून को समाप्त तिमाही में विमान ईंधन के मद में कंपनी का कुल खर्च 53.03 फीसदी बढ़कर 2,332.49 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। पिछले साल की समान तिमाही में इस मद में उसका खर्च 1,524.17 करोड़ रुपए था। विमानों तथा इंजनों के किराए, कर्मचारियों के वेतन-भत्तों, पूंजी लागत आदि मदों में भी उसका खर्च बढ़ा है। उसका कुल व्यय 25.24 फीसदी बढ़कर 7,389.91 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। पिछले साल 30 जून को समाप्त तिमाही में कुल व्यय 5900.42 करोड़ रुपए रहा था।
Jet Airways
आमदनी में मामूली वृद्धि

आलोच्य तिमाही में कंपनी की आमदनी में मामूली वृद्धि हुई है। यह एक साल पहले के 5,953.92 करोड़ रुपए से 1.90 फीसदी बढ़कर 6,066.91 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। डॉलर की तुलना में रुपए के कमजोर पड़ने से कंपनी को पहली तिमाही में 364.62 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है। पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में इस मद में उसे 16.71 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दूबे ने परिणामों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ब्रेंट ईंधन के दाम बढ़ने, रुपए की गिरावट और ईंधन की ऊंची कीमतों और कम किराए की विसंगति से भारतीय विमानन क्षेत्र पर बेहद प्रतिकूल असर पड़ा है। हम लागत कम करने और राजस्व बढ़ाने के लिए कई उपाय कर रहे हैं। मुझे विश्वास है कि हम चुनौतियों से निपटने में सक्षम होंगे।
पहले 09 अगस्त को घोषित होने थे परिणाम

वित्तीय संकट से जूझ रही कंपनी के परिणाम पहले 09 अगस्त को घोषित होने थे, लेकिन इसकी घोषणा 27 अगस्त तक के लिए टाल दी गई थी। शेयर बाजार में पंजीकृत तीन विमान सेवा कंपनियों में यह दूसरी है जिसे पहली तिमाही में नुकसान हुआ है। किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइस जेट को 38.06 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है, वहीं देश की सबसे बड़ी विमान सेवा कंपनी इंडिगो का शुद्ध मुनाफा 96.57 फीसदी घटकर 27.79 करोड़ रुपए रह गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.