मुकेश अंबानी नहीं बल्कि इस बैंक ने निकाला अनिल अंबानी की परेशानियों का हल, बनाया ये प्लान

मुकेश अंबानी नहीं बल्कि इस बैंक ने निकाला अनिल अंबानी की परेशानियों का हल, बनाया ये प्लान

| Publish: Feb, 16 2019 03:08:20 PM (IST) | Updated: Feb, 16 2019 03:33:24 PM (IST) कॉर्पोरेट

मुकेश अंबानी भले ही भारत के सबसे अमीर शख्स हैं, लेकिन वे मुसीबतों से घिरे अनिल अंबानी की परेशानियों का हल नहीं निकाल पाएं। ऐसे में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने रिलायंस कम्यूनिकेशन की मदद करने का निर्णय लिया है।

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी भले ही भारत के सबसे अमीर शख्स हैं, लेकिन वे मुसीबतों से घिरे अनिल अंबानी की परेशानियों का हल नहीं निकाल पाएं। ऐसे में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने रिलायंस कम्यूनिकेशन की मदद करने का निर्णय लिया है। रिलायंस कम्यूनिकेशन को कर्ज देने वाले बैंक एसबीआई बड़ा कदम उठाने जा रहा है। दरअसल एसबीआई ने टेलीकॉम कंपनी की दिवाला कार्यवाही का प्रबंधन करने के लिए रिजाल्यूशन प्रोफेशनल (RP) की पहचान करने और चयन करने के लिए चार बड़े ऑडिट फर्म और कंसल्टेंट से संपर्क किया है। ईवाई और आरकॉम के लिए पहले से नियुक्त किए गए रिजाल्यूशन प्रोफेशनल का इंटरव्यू बैंक द्वारा ही लिया गया है।


ये कदम उठाने पर SBI कर रहा विचार

आपको बता दें कि एसबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी कि आरकॉम को उसकी संपत्ति बेचने दी जाए ताकि देनदार अपना पैसा वसूल सकें। एसबीआई आरकॉम की संपत्तियों को बेचकर पैसा जमा करने की योजना में शामिल प्रमुख बैंक है। इन बैंकों ने कंपनी की संपत्तियों को बेचकर कर्ज को 18 हजार करोड़ तक लाने की योजना बनाई थी। आरकॉम पर बैंकों का 40,000 करोड़ रुपए बकाया है। ईटी की रिपोर्ट के अनुसार एसबीआई आरकॉम को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में लेने के लिए एक स्वतंत्र कदम उठाने पर विचार कर रही है।


SBI ने दिया ये बयान

इस पूरे मामले पर एसबीआई बैंक के एक अधिकारी ने कहा कि, 'किसी खास अकाउंट और उससे संबंधि मामलों पर किए जा रहे काम पर कमेंट नहीं करने की बैंक की नीति है।' अनिल अंबानी के खिलाफ एरिक्सन ने उच्चतम न्यायालय में आरोप लगाया कि रिलायंस समूह के पास रफाल जेट सौदे में निवेश के लिए पैसा हैं लेकिन वह उनका 550 करोड़ रुपए का बकाया चुकाने में असमर्थ है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned