Reliance के हाथों में आ सकती Tiktok India की बागडोर

  • Tiktok CEO Kevin Mayer की हुई Reliance Industries के अधिकारियों से मुलाकात
  • Reliance ने इस खबर को बताया अफवाह, Tiktok की ओर से नहीं आया बयान

By: Saurabh Sharma

Updated: 13 Aug 2020, 04:11 PM IST

नई दिल्ली। जब से अमरीका में टिकटॉक के अमरीकी ऑपरेशंस माइक्रोसॉफ्ट द्वारा खरीदे जाने की खबरा सामने आई है। तब से भारत के ऑपरेशंस खरीदे जाने की बात सामने आ रही है। पहले नाम खुद माइक्रोसॉफ्ट ( Microsoft ) का आया था। अब रिलायंस इंडस्ट्रीज Reliance Industries ) का नाम सामने आया है। खबर यह भी है कि टिकटॉक के सीईओ केविन मेयर ( Tiktok Ceo Kevin Mayer ) ने रिलायंस ऑफिशियल्स से बात भी की है। वैसे रिलायंस ने टिकटॉक खरीदने की बातों को अफवाह बताया है और टिकटॉक की ओर से भी कोई बयान नहीं आयाा है।

टिकटॉक सीईओ की हुई रिलायंस अधिकारियों से बात
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केविन मेयर की मुलाकात टिकटॉक इंडिया ऑपरेशंस को लेकर रिलायंस के टॉप ऑफिशियल्स से हुई। जिसके बाद रिलायंस और जियो की ओर से इस बात को लेकर मंथन चल रहा है कि आखिर टिकटॉक को मौजूदा समय में लेना फायदे का सौदा होगा या नहीं। क्योंकि गलवान घाटी हिंसा के बाद चीन और उसके प्रोडक्ट्स को नेगीटिव सेंटीमेंट्स बन गए हैं। वहीं मीडिया रिपोर्ट में इस बात की पुष्टी की जा रही है कि रिलायंस और बाइटडांस दोनों की ओर से संपर्क बना हुआ है।

रिलायंस का इनकार
भले ही चर्चाओं का बाजार गर्म हो, लेकिन रिलायंस ने इस पूरी खबर को अफवाह बताकर उसे ठंडा करने का प्रयास किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जब इस बारे में रिलायंस से संपर्क किया गया तो उसे अफवाह करार दे दिया गया। कंपनी का कहना है कि वो सेबी के नियमों के तहत स्टॉक एक्सचेंज के साथ एग्रीमेंट के तहत जरूरी सूचनाएं शेयर करते हैं। वहीं दूसरी ओर माइक्रोसॉफ्ट की ओर से भी इस पूरे मामले में बात करने से मना कर दिया है। साथ केविन मेयर की ओर से भी कोई बयान नहीं आया है।

अमरीका में है 15 सितंबर तक का समय
वहीं दूसरी ओर टिकटॉक के अमरीकी ऑपरेशंस को बेचे जाने की अंतिम सीमा 15 सितंबर है। जिस पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से साइन भी हो चुके हैं। आदेश के अनुसार अमरीकी ऑपरेशंस को माइक्रोसॉफ्ट या किसी दूसरी अमरीकी कंपनी को बेच दिया जाए और सभी डाटा चीनी कंपनियों से वापस ले लिए जाएं। अगर ऐसा नहीं होता है तो कंपनी को पूरी तरह से बैन कर दिया जाएगा। वहीं जापान और दूसरे देश भी टिकटॉक को बैन कर सकते हैं। इसलिए माइक्रोसॉफ्ट ग्लोबल ऑपरेशंस को भी खरीदने की बात कर रहा है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned