रिलायंस जियो ने जापानी बैंकों के साथ किया 3,250 करोड़ रुपए का करार

मुकेश अंबानी की टेलिकाॅम कंपनी रिलायंस जियो ने 3,250 करोड़ रुपये के समुराई टर्म लोन जुटाने के लिए जापान के बैंकों के साथ करार किया है।

By: Ashutosh Verma

Updated: 15 Apr 2018, 01:57 PM IST

नर्इ दिल्ली। मुकेश अंबानी की टेलिकाॅम कंपनी रिलायंस जियो ने 3,250 करोड़ रुपये के समुराई टर्म लोन जुटाने के लिए जापान के बैंकों के साथ करार किया है। रिलायंस जियो ने इस समझौते की जानकारी देते हुए देते हुए बताया, रिलायंस जियो इन्फोकाॅम लिमिटेड ने 53 बिलियन के समुरार्इ टर्म लोन 7 साल के लिए बुलेट मैच्योरिटी के साथ लेने के समझौते पर हस्ताक्षर किया है। कंपनी ने बताया की वो इस टर्म लोन का उपयोग पूंजीगत खर्चे में करेगी।

यह भी पढ़ें - अब यूको बैंक को लगी 621 करोड़ की चपत
क्या होता है समुरार्इ टर्म लोन

समुराई टर्म लोन एक एेसा लोन को कहा जाता है जिसे जापानी बैंक कम ब्याज दर पर देते हैं। आपको बता दें कि फिलहाल एक जापानी येन की कीमत करीब 0.60 रुपए है। कंपनी ने साथ में ये भी बताया है कि किसी भी एशियार्इ काॅर्पोरेट के समुरार्इ लोन के रुप में दी गर्इ अबतक की सबसे बड़ी रकम है।

यह भी पढ़ें - धांधली! 55 रुपए की किताब को अमेजन ने 275 रुपए में बेचा
इन जापानी बैंको के साथ किया है करार

जिन बैंको के साथ रिलायंस जियाे ने करार किया है उनमें मिजुहो बैंक लिमिटेड, एमयूएफजी बैंक आैर सुमितोमो मित्सुर्इ बैंकिं काॅर्पोरेशन शामिल है। इसके लिए ये बैंक जल्दी ही रिलायंस को टर्म लोन देने के लिए सामूहिक तालमेल बिठाएंगे।

यह भी पढ़ें - बदलने वाला है आपका G-mail, जानिए क्या होगा खास
पिछले महीने ही 20 हजार रुपए जुटाने की दी थी मंजूरी

कंपनी के निदेशक मंडल ने पिछले ही महीने करीब 20 हजार करोड़ रुपए का लोन जुटाने को मंजूरी दी थी। बता दें कि कंपनी ने मोबार्इल कारोबार में दो लाख करोड़ रुपये से अधिक निवेश किया है जिससे उसे 16.8 करोड़ उपभोक्ता मिले हैं। रिलायंस जियो इस समय 4जी सेवाएं दे रही है। उसका कहना है कि वह भविष्य में अपने नेटवर्क को मोबाइल संचार की 5जी और 6जी प्रौद्योगिकी के लिए बहुत आसानी से उन्नत कर लेगी।

Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned