scriptRil told HC, no connection with corporate farming and 3 farm laws | टॉवर मामला: रिलायंस ने हाईकोर्ट से कहा, कॉरपोरेट फार्मिंग और कृषि कानूनों से कोई वास्ता नहीं | Patrika News

टॉवर मामला: रिलायंस ने हाईकोर्ट से कहा, कॉरपोरेट फार्मिंग और कृषि कानूनों से कोई वास्ता नहीं

locationनई दिल्लीPublished: Jan 04, 2021 02:20:41 pm

Submitted by:

Saurabh Sharma

  • टॉवरों में तोड़तोड़ रुकवाने के लिए रिलायंस ने पंजाब तथा हरियाणा उच्च न्यायालय में डाली याचिका
  • आरआईएल ने कहा, कॉर्पोरेट खेती कारोबार में उतरने का कोई इरादा नहीं, कृषि कानूनों से कोई वास्ता नहीं

Ril told HC, no connection with corporate farming and 3 farm laws
Ril told HC, no connection with corporate farming and 3 farm laws

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने सोमवार को "कॉर्पोरेट" या "कॉन्ट्रैक्ट" खेती कारोबार में उतरने का कोई इरादा नहीं जताते हुए पंजाब तथा हरियाणा उच्च न्यायालय में अपनी अनुषंगी जियो इंफोकॉम के मोबाईल टावरों में तोडफ़ोड़ को तुरंत रुकवाने के लिये याचिका दायर की। याचिका में रिलायंस ने कहा कि नए तीन कृषि कानूनों का कंपनी से कोई लेना-देना नहीं है, और न ही किसी भी तरह से उसे इसका कोई लाभ पहुंचता है।

रिलायंस की ऐसी कोई योजना नहीं
अपनी स्थिति स्पष्ट करने के लिए न्यायालय में रिलायंस ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रिलायंस रिटेल लिमिटेड (आरआरएल), रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड (आरजेआईएल) और रिलायंस से जुड़ी कोई भी अन्य कंपनी न तो कॉरपोरेट या अनुबंध पर खेती करती है और न ही करवाती है। कंपनी ने स्पष्ट किया है कि उसकी इस कारोबार में उतरने की कोई योजना नहीं है। आरआईएल ने कहा कि कॉर्पोरेट" या "कॉन्ट्रैक्ट" खेती के लिए रिलायंस या रिलायंस की किसी भी सहायक कंपनी ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से खेती की कोई भी जमीन हरियाणा- पंजाब अथवा देश के किसी दूसरे हिस्से में नहीं खरीदी है और न ही ऐसा करने की हमारी कोई योजना है।

यह भी पढ़ेंः- New York से लेकर New Delhi तक सोना और चांदी हुआ महंगा, जानिए कितनी हुई कीमत

किसानों से नहीं करती खरीद फरोख्त
रिलायंस ने न्यायालय को यह भी बताया कि रिलायंस रिटेल संगठित रिटेल सेक्टर की कंपनी है और विभिन्न कंपनियों के अलग -अलग उत्पादों को बेचती है पर कंपनी किसानों से सीधे खाद्यान्नों की खरीद नहीं करती और न ही किसानों के साथ कोई दीर्घकालीन खरीद अनुबंध में कंपनी शामिल है। रिलायंस ने 130 करोड़ भारतीयों का पेट भरने वाले किसान को अन्नदाता बताया और किसान की समृद्धि और सशक्तीकरण के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की। किसानों में फैली गलतफहमियां दूर करते हुए रिलायंस ने याचिका में बताया कि वे और उनके आपूर्तिकर्ता, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) या तयशुदा सरकारी मूल्य पर ही किसानो से खरीद पर जोर देंगे जिससे किसान को उसकी उपज का बेहतरीन मूल्य मिल सके।

टॉवरों के तोडफ़ोड़ पर रोक लगाने की मांग
पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर रिलायंस ने शासन से उपद्रवियों द्वारा तोडफ़ोड़ की गैरकानूनी घटनाओं पर तत्काल रोक लगाने का अनुरोध किया है। याचिका में कहा गया है कि उपद्रवियों द्वारा की गई तोडफ़ोड़ और हिंसक कार्यवाही से रिलायंस से जुड़े हजारों कर्मचारियों की जि़न्दगी खतरे में पड़ गई है और साथ ही पंजाब और हरियाणा में चलाए जा रहे महत्वपूर्ण संचार इंफ्रास्ट्रक्चर, बिक्री और सेवा केंद्रों के रोजमर्रा के कामों में व्यवधान पैदा हुआ है।

यह भी पढ़ेंः- कोविड वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद बाजार गुलजार, सेंसेक्स 48000 के पार

जियो के खिलाफ उकसाने का प्रयास
रिलायंस का आरोप है कि तोडफ़ोड़ के लिए इन उपद्रवियों को निहित स्वार्थ के कारण उकसाया जा रहा है। किसान आंदोलन को मोहरा बनाकर रिलायंस के खिलाफ लगातार एक कुटिल, दुर्भावनायुक्त और विद्वेषपूर्ण अभियान चलाया है। कृषि कानूनों से रिलायंस का नाम जोडऩे का एकमात्र उद्देश्य हमारे व्यवसायों को नुकसान पहुंचाना और हमारी प्रतिष्ठा को तहस-नहस करना है। उपद्रवियों के खिलाफ अब तक की गई कार्रवाई के लिए रिलायंस जियो ने अधिकारियों, विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा पुलिस का शुक्रिया अदा किया।

कोर्ट से कार्रवाई की मांग
कंपनी ने हाईकोर्ट से उपद्रवियों और निहित स्वार्थी तत्वों के खिलाफ दंडात्मक और निवारक कार्रवाई की मांग की है, ताकि रिलायंस पंजाब और हरियाणा में एक बार फिर से अपने सभी व्यवसायों को सुचारू रूप से चला सके। साथ ही जनता और मीडिया से आग्रह किया हैं कि वे सही तथ्यों के बारे में जागरूक हों तथा निहित स्वार्थों द्वारा उनके फायदे के लिए फैलाये जा रहे झूठ और फरेब के जाल से गुमराह न हों।

यह भी पढ़ेंः- जीएसटी चोरी करने वालों सावधान, 7000 कारोबारियों पर कार्रवाई, 187 सलाखों के पीछे

रिलायंस ने कहा, किसानों को लाभ पहुंचाने का किया प्रयास
कंपनी ने कहा है कि भारतीय किसानों के हितों को चोट पहुंचाना तो दूर की बात है, रिलायंस के व्यवसायों ने तो वास्तव में किसानो और भारतीय जनता को बड़े पैमाने पर लाभान्वित किया है। रिलायंस रिटेल ने बड़े पैमाने पर निवेश करके एक विश्व स्तरीय प्रौद्योगिकी-सक्षम आपूर्ति श्रृंखला बनाई है और भारत के सबसे बड़े संगठित रिटेल बिजनेस को जन्म दिया है, जिसने भारतीय किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को ही लाभ पहुंचाया है।

किसानों के लिए लाइफलाइन साबित हुई जियो
रिलायंस ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान लाखों किसानों, ग्रामीणों और शहरी भारत के लिए जियो नेटवर्क एक लाइफ लाइन साबित हुआ है । जियो के 4जी नेटवर्क ने भारत के हर एक गाँव को विश्व की सबसे सस्ती दरों पर विश्वस्तरीय डेटा कनेक्टिविटी प्रदान की है, इससे करोड़ों भारतीय किसानों को भी डिजिटल क्रांति का लाभ मिला है।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: लगातार 28वें दिन कीमत में कोई बदलाव नहीं, जानिए अपने शहर के दाम

देश में 40 करोड़ जियो के कस्टमर
केवल चार वर्षों की छोटी से अवधि में जियो भारत का सबसे बड़ा डिजिटल सेवा प्रदाता बन गया है, जिसके 40 करोड़ ग्राहक हैं। जियो के अक्टूबर 2020 तक पंजाब में एक करोड़ 40 लाख (राज्य के कुल ग्राहकों लगभग 36 प्रतिशत) और हरियाणा में 94 लाख (राज्य में लगभग 34 प्रतिशत ग्राहक) हैं। महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि निहित स्वार्थो के विपरीत जियो ने ग्राहकों को जोडऩे के लिए किसी भी जोर जबरदस्ती या गैरकानूनी उपायों का सहारा नहीं लिया है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

मालामाल होगा महाराष्ट्र! चंद्रपुर और सिंधुदुर्ग में मिली सोने की खानBJP की राष्ट्रीय कार्यसमिति में कैप्टन अमरिंदर और सुनील जाखड़ की एंट्री, जयवीर शेरगिल बने प्रवक्तादिल्ली एमसीडी चुनाव पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, रिट खारिजMCD चुनाव प्रचार के आखिरी दिन केजरीवाल का मास्टरस्ट्रोक, चंदा मांगकर योग शिक्षकों को दिया वेतनसमुद्री सीमाओं को सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभा रहे शिपयार्ड : राजनाथ सिंहमहाराष्ट्र में सिंगल यूज प्लास्टिक से सख्त बैन हटा, इन चीजों के उपयोग की अनुमति मिलीजेएनयू मामले में 'अज्ञात व्यक्तियों' के खिलाफ शिकायत दर्जGood News: यूपी के मेडिकल कॉलेजों में होंगी 45 हजार से ज्यादा भर्तियां, सरकार ने दी मंजूरी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.