टाटा, अडाणी और हुंडई की भारतीय रेल, इन रुटों पर भरेगी रफ्तार

सरकार देश भर में विभिन्न रूट (मार्ग) पर 150 निजी ट्रेन चलाना चाहती है। निजी ट्रेनों के लिए दो दर्जन से ज्यादा कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई है।

Manish Ranjan

10 Feb 2020, 03:48 PM IST

नई दिल्ली। देश की अब रेल पटरियों पर भारतीय रेल के साथ-साथ टाटा, अडाणी और हुंडई की ट्रेन भी दौड़ेगी। वित्त मंत्री ने बजट 2020 में पर्यटन स्थलों को जोड़ने के लिए तेजस एक्सप्रेस जैसी और निजी ट्रेनों को चलाने की घोषणा की थी। सरकार देश भर में विभिन्न रूट (मार्ग) पर 150 निजी ट्रेन चलाना चाहती है। निजी ट्रेनों के लिए दो दर्जन से ज्यादा कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई है। जिनमें प्रमुख रुप से टाटा, अडाणी और हुंडई जैसी कंपनियां शामिल हैं।

इन कंपनियों ने दिखाई दिलचस्पी

तेजस जैसी ट्रेन को चलाने के लिए जिन कंपनियों ने इच्छा जाहिर की है उनमें टाटा रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर, अडाणी पोर्ट्स एवं एसईजेड, हुंडई रोटेम कंपनी, एलस्टॉम ट्रांसपोर्ट, बॉम्बार्डियर, सिमेंस एजी, मैक्वेरी, हिताची इंडिया एवं साउथ एशिया और एस्सेल ग्रुप सहित दो दर्जन से अधिक कंपनियां हैं।

150 निजी ट्रेन चलाने के प्रस्ताव

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे ने देश में 150 निजी ट्रेन चलाने के लिए 100 रूट की सूची बनाई है। इसे 10-12 क्लस्टर में बांटा गया है। इसमें मुंबई से नई दिल्ली, चेन्नई से नई दिल्ली, नई दिल्ली से हावड़ा, शालीमार से पुणे, नई दिल्ली से पटना शामिल हैं।

निजी कंपनियों को मिलेंगे यह अधिकार

जिन रुट्स पर इन ट्रेन को चलाया जाएगा उनमें किराया तय करने का अधिकार निजी संस्था होगा उसका निर्णय अंतिम होगा। इसके अलावा संबंधित कंपनियों के पास ही उन ट्रेनों पर वित्तीय अधिकार होने के साथ संचालन और रखरखाव की जिम्मेदारी होगी। हालांकि इस दौर में भारतीय रेल की सहायक IRCTC यानी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन भी शामिल हैं। मौजूदा दौर में IRCTC भारतीय रेल में खानपान और अन्य सुविधाएं प्रदान करता है।

Gautam Adani
Show More
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned