सरकार की सख्ती का दिखा असर, भारत लौट सकता है विजय माल्या

सरकार की सख्ती का दिखा असर, भारत लौट सकता है विजय माल्या

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 24 2018 09:00:34 PM (IST) | Updated: Jul, 25 2018 08:23:20 AM (IST) कॉर्पोरेट

'द हिंदू' में प्रकाशित खबर के अनुसार विजय माल्या ने कहा कि वह बैंकों के साथ अपने सभी बकायों के भुगतान को तैयार है।

नई दिल्ली। विजय माल्या को लेकर भारत आैर भारत सरकार के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है। सुनने में आ रहा है कि विजय माल्या ने भारत वापसी के संकेत दिए हैं। यह भारतीय जांच एजेंसियों आैर भारत सरकार के लिए बड़ी सफलता है। अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' के अनुसार फ्यूजिटिव इकोनॉमिक अफेंडर्स ऑर्डनैंस के अंतर्गत इंफोर्समेंट डायरेक्टोरेट की कार्रवाई के कारण विजय माल्या ने भारत वापसी के संकेत दिए हैं। आपको बता दें कि जून में ईडी ने विजय माल्या को भारत वापस लाने और उनकी 12,500 करोड़ रुपए की संपत्ति को जब्त करने के लिए कोर्ट में अपील दाखिल की थी। फिलहाल माल्या लंदन में हैं। वो वहीं से ही अपनी कानूनी कार्रवार्इ कर रहे हैं।

भारत लौटना चाहता है माल्या
'द हिंदू' में प्रकाशित खबर के अनुसार विजय माल्या ने कहा कि वह बैंकों के साथ अपने सभी बकायों के भुगतान को तैयार है। जिसके लिए वो देश लौटना चाहता है। माल्या के अनुसार वह पहले भी बैंकों के साथ सेटलमेंट करने को तैयार था, इसके लिए उसने पीएम नरेंद्र मोदी को लेटर भी लिखा था, लेकिन सरकार की आेर से उसे कोर्इ सहयोग नहीं मिला। सूत्रों की मानें तो उसने 15 अप्रैल, 2016 को पीएम मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखा था। जिसका उसे कोर्इ जवाब नहीं मिला था।

माल्या ने लगाए थे सरकार पर आरोप
माल्‍या ने मोदी आैर जेटली को लिखे लेटर में कहा था कि उसे नेताओं और मीडिया ने चोरी का आरोपी और किंगफिशर एयरलाइन्‍स को दिए गए 9000 करोड़ रुपए के लोन को लेकर भागने वाला भगौड़ा साबित कर दिया है। कर्इ बैंकों द्वारा तो उसे विलफुल डिफॉल्‍टर तक घोषित कर दिया है। सेंट्रल ब्‍यूरो ऑफ इन्‍वेस्‍टिगेशन (सीबीआर्इ) और प्रवर्तन निदेशालय (र्इडी) ने झूठे आरोपों के साथ उनके खिलाफ चार्जशीट दायर की। विजय माल्या ने आरोप लगाया है कि ये सब सरकार और बैंकों के इशारे पर हुआ है। बता दें कि माल्‍या पर बैंकों का 9000 करोड़ रुपए से ज्‍यादा का बकाया है और वह इस वक्‍त भाग कर ब्रिटेन में रह रहे हैं। भारत की ओर से प्रत्‍यर्पण के लिए यूके की कोर्ट में मुकदमा चल रहा है। माल्‍या ने एक लंबे अर्से बाद कोई बयान दिया है।

 

 

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned