चंदा कोचर मामले में सीबीआर्इ की कार्रवार्इ के बाद व्हिसलब्लोवर अरविंद गुप्ता ने किया चौंकाने वाला खुलासा

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Jan, 24 2019 08:01:24 PM (IST) | Updated: Jan, 24 2019 09:00:18 PM (IST) कॉर्पोरेट

इस मामले काे उजागर करने वाले व्हिसलब्लोअर अरविंगद गुप्ता से जब सीबीआर्इ के कार्रवार्इ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि एक शेयरधारक के तौर पर मेरा मानना है कि लोगों को सबकुछ पता होना चाहिए।

नर्इ दिल्ली। वीडियोकाॅन-ICICI केस लोन के मामले में गुरुवार को सीबीआर्इ ने चार ठिकानों पर छोपमारी की है। इस मामले काे उजागर करने वाले व्हिसलब्लोअर अरविंगद गुप्ता से जब सीबीआर्इ के कार्रवार्इ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि एक शेयरधारक के तौर पर मेरा मानना है कि लोगों को सबकुछ पता होना चाहिए। इसलिए मैंने सभी को इसके बारे में जानकारी दी है। मैं सरकार से कहता हूं कि उसे घरेलू कंपनियों की विदेशी फंडिंग के बारे में जानना चाहिए। चंदा कोचर का मामला तो बस आइसबर्ग का एक छोटा सा हिस्सा है।

चंदा कोचर को मिली थी क्लिनचिट

इसके पहले गुरुवार को एक न्यूज वेबसाइट फर्स्टपोस्ट ने भी अरविंद गुप्ता से बात की। इस वेबसाइट से बातचीत में गुप्ता ने कहा कि इसमें खुश या नाखुश होने की कोर्इ बात ही नहीं है। सिस्टम में मौजदू सभी लोगों का मानना था कि सबकुछ ठीक है। यहां तक बोर्ड के सदस्यों तक ने चंदा कोचर को क्लिनचिट दे दी थी। गुप्ता ने कहा कि चंदा कोचर बैंक के सभी बड़े फैसलों का हिस्सा थीं। यहां तक की रिस्क कमिटी आैर क्रेडिट कमिटी का भी वो हिस्सा थीं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीअार्इ) आैर सेबी ने भी कह दिया था कि कुछ भी गलत नहीं है आैर चंदा कोचर के खिलाफ कोर्इ भी ठोस सबूत नहीं है। बैंक के कानूनी सलाहकार मंगल दास ने भी सामने आकर कोचर को क्लिनचिट दी थी।


अरविंद गुप्ता ने खोली थी पोल

गौरतलब है कि इस केस में चंदा कोचर के पति दीपक कोचर व वीडियोकाॅन के मालिक वेणुगोपाल धूत के बीच कनेक्शन की बात सामने आर्इ थी। बैंक से 3,250 करोड़ रुपए लोन लेने में हेरफेर का मामला सामना आया था। इसके बारे में सबसे पहले अरविंद गुप्ता ने जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि चंदा कोचर आैर वीडियोकाॅन फैमिली के बीच गलत तरीक से डीलिंग्स के बारे में जानकारी दी थी। अप्रैल 2018 में, गुप्ता ने मांग किया था कि न्यूपावर रिन्युबल्स से चंदा कोचर के पति दीपक कोचर का क्या संबंध हैं। उन्हें इस कंपनी अपने शेयर के बारे में जानकारी देनी चाहिए।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business news in hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned