आखिर क्यों कहा था अमर सिंह ने मैं अपनी पत्नी और परिवार के साथ रहना चाहता हूँ

मरने से पहले जारी किया यह वीडियो, कही कई खास बाते

By: Ritesh Singh

Published: 01 Aug 2020, 06:03 PM IST

लखनऊ ,सावन के महीने में ख़त्म होने के 3 दिन पहले और ईदुल अजहा के दिन ही इस दुनिया को हमेशा अलविदा कह गए राज्यसभा सांसद अमर सिंह। अमर सिंह हमेशा सुर्खियों थे इसलिए भी उनको राजनीति का पुरोधा कहा जाता था सबसे बड़ी बात यह थी कि वो सबका आदर समान करते थे कौन छोटा बड़ा यह वो सबका ध्यान रखते थे। समय पर हर जगह पहुंचे की बहुत अच्छी आदत थी जिसकी वजह से उन्होंने कई बार बड़े बड़े लोगो को भी टोक दिया था।

( MP Amar Singh) अमर सिंह का संक्षिप्त परिचय

( Rajya Sabha MP Amar Singh) अमर सिंह (जन्म 27 जनवरी 1956) एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। जो उत्तर प्रदेश से थे और ( Samajwadi Party) समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेताओं में से एक रहे हैं। ये अपने हिन्दी ज्ञान और राजनैतिक सम्बंधों के लिए जाने जाते हैं। अमर सिंह अपने आप पर जनमत को ध्रुवित करने के लिए भी जाने जाते हैं। वो समाजवादी पार्टी के महासचिव व भारतीय संसद के उपरी सदन राज्य सभा के सदस्य रह चुके हैं। 6 जनवरी 2010 को इन्होंने ( Samajwadi Party) समाजवादी पार्टी के सभी पदों से त्यागपत्र दे दिया। इसके बाद पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने उन्हें 2 फ़रवरी 2010 को पार्टी से निष्कासित कर दिया। वर्ष 2011 में इनका कुछ समय न्यायिक हिरासत में भी बीता। इन्होंने राजनीति से सन्यास ले लिया।

राजनीति से सन्यास लेते समय कही यह बात

घोषणा करते हुए इन्होंने कहा "मैं अपनी पत्नी और अपने परिवार को अधिक समय देना चाहता हूँ। अतः चुनावों की अन्तिम तिथि (13 मई) के बाद मैं राजनीति से सन्यास ले लुँगा।" वर्ष 2016 में इनकी समाजवादी पार्टी में पुनः वापसी हुई और राज्य सभा के लिए चुने गये। फ़िलहाल ये समाजवादी से अलग हो गएथे। उन्होंने ( Akhilesh Yadav) अखिलेश यादव को नमाज़वादी भी घोषित कर दिया था। उनका सिंगापुर में इलाज चल रहा था

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned