100-150 वर्ष पुरानी नहरों के पुल-पुलियों का होगा जीर्णोद्धार, मुख्यमंत्री ने शुरू किया महाभियान

उत्तर प्रदेश में 100-150 साल से भी अधिक पुरानी नहरों पर बने पुल-पुलिया की जर्जर हालत को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इनकी मरम्मत और पुनर्निर्माण का महाभियान शुरू किया है।

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Feb 2021, 04:56 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 100-150 साल से भी अधिक पुरानी नहरों पर बने पुल-पुलिया की जर्जर हालत को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इनकी मरम्मत और पुनर्निर्माण का महाभियान शुरू किया है। मुख्यमंत्री ने सिंचाई व जल संसाधन विभाग को निर्देश दिए हैं कि इस काम को शीर्ष प्राथमिकता देते हुए अगले 100 दिन में इसका कार्य पूरा कर लिया जाए। साथ ही उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों को अपने-अपने क्षेत्रों में हो रहे कार्यों की मॉनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए।

ये भी पढ़ें- यूपी बजट 2021-22: बिंदुओं में जानिए क्या होगा खास, किसे मिलेगा तोहफा, क्या होंगी बड़ी घोषणाएं

रविवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से सभी सम्बंधित जिलों के जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से संवाद करते हुए सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में नहरों पर लगभग 70,000 पुल-पुलिया निर्मित हैं, जिनमें से लगभग आधी कमोबेश क्षतिग्रस्त हैं। प्रदेश के इतिहास में पहली बार समूचे राज्य की नहरों की क्षतिग्रस्त पुल-पुलियों के जीर्णोद्धार का कार्य एक महा-अभियान के रूप में किया जा रहा है। इस अभियान से आम जन को आवागमन की सुविधा के साथ कृषकों को भी अपने खेत खलिहानों तक पहुंचने में सुविधा होगी। इस महा अभियान में प्रदेश के समस्त जनपदों में नहरों पर स्थित 25,050 क्षतिग्रस्त पुल पुलियों का जीर्णोद्धार एवं पुनर्निर्माण किया जाएगा। इसमें 3508 पुल-पुलियों का नवनिर्माण भी शामिल है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के लिए वित्तीय व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है।

ये भी पढ़ें- 35 वाला पेट्रोल लखनऊ में बिक रहा 90 रुपए प्रति लीटर, यह है मामला

मुख्यमंत्री ने आगरा, मथुरा, रामपुर, सिद्धार्थनगर, बिजनौर आदि जिलों के विभिन्न सांसद-विधायकगणों से संवाद करते हुए कहा कि सभी जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्रों में हो रहे निर्माण कार्यों, जीर्णोद्धार कार्यों की सतत मॉनिटरिंग करते रहें। काम की गुणवत्ता परखें, अगर कहीं गड़बड़ी या कमी दिखे तो उसकी जानकारी दें। तत्काल कार्यवाही कराई जाएगी। जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री के इस अभियान को ऐतिहासिक बताया।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned