26 हजार नौजवानों को मिलेगा सरकारी शिक्षक बनने का मौका

उत्तर प्रदेश में जल्द ही 26 हज़ार शिक्षकों की भर्ती हो सकती है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में जल्द ही 26 हज़ार शिक्षकों की भर्ती हो सकती है । लोगों की आस इसलिए भी बढ़ गई है क्योंकि योगी आदित्यनाथ के 8 मार्च को इलाहबाद के अल्लापुर में हुई चुनावी सभा में एक सप्ताह के अंदर चयन बोर्ड के गठन का आश्वासन दिया था। आवेदन के प्रक्रिया अगले महीने से शुरू हो सकती है । सरकार ने स्पष्ट किया है कि आवेदन से लेकर परीक्षा तक की सभी प्रकिया ऑनलाइन होगी। शिक्षकों के विभिन्न पदों के लिए 20 लाख युवाओं ने आवेदन किया है।

अब 14 मार्च को फूलपुर संसदीय सीट के उपचुनाव का परिणाम आएगा और चयन बोर्ड के गठन के लिए दिए गए एक सप्ताह की समय सीमा भी उसी दिन पूरी हो रही है । यह भी माना जा रहा है कि एक सप्ताह के अंदर चयन बोर्ड का गठन हो जाएगा ।

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार अनुपमा जायसवाल ने कहा कि सरकार परिषदीय विद्यालयों में 12407 शिक्षकों की भर्ती मामले को और अपने फैसले का इंतजार कर रही है । फैसला आने पर सरकार उचित कार्यवाही करेगी । विधानसभा में कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू द्वारा 12407 शिक्षकों को तत्काल नियुक्ति पत्र जारी कराने की मांग को लेकर लाए गए कार्य स्थगन प्रस्ताव का जवाब दे रही है ।

यह भी पढ़े - लखनऊ मेट्रो ने निकाली बम्पर वैकेंसी, 386 पदों पर निकली भर्ती, जल्द करें अप्लाई

टीजीटी पीजीटी 2016 के 9502 के लिए 1200000 से अधिक व्यक्ति ने आवेदन किया है। यह भर्ती की चयन बोर्ड का गठन होने और इस परीक्षा की तिथियां घोषित होने के बाद जो रहे हैं। वैसे सितंबर 2017 में तत्कालीन चेयरमैन हीरालाल गुप्ता ने अक्टूबर परीक्षा कराने की कोशिश की थी लेकिन उसके तुरंत बाद उनका इस्तीफा चयन बोर्ड भंग होने के सारे काम रुक गया ।

यह भी पढ़े - पेंशन को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगी पेंशन

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned