69000 शिक्षक सहायक भर्ती: 30235 अभ्यर्थियों का हुआ चयन, एक हजार को नहीं मिले नियुक्ति पत्र

दो दिन काउंसिलिंग के बाद शुक्रवार को सभी चयनितों को नियुक्ति पत्र वितरित किया गया। लेकिन सहायक शिक्षक पद पर करीब एक हजार अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं मिल सकी।

By: Karishma Lalwani

Published: 17 Oct 2020, 11:21 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के परिषदीय स्कूलों में 69000 शिक्षक भर्ती के लिए चयन प्रक्रिया शुरू हो गई है। इन पदों के साक्षेप जून माह में 67867 अभ्यर्थियों की अंतिम सूची जारी हुई थी लेकिन काउंसलिंग के पहले दिन हाईकोर्ट ने चयन पर रोक लगा दी थी। प्रदेश सरकार ने शीर्ष कोर्ट के 21 मई के आदेश पर 31661 पदों पर शिक्षक चयन को आगे बढ़ाने का निर्देश दिया। बेसिक शिक्षा परिषद ने 31277 पदों पर अभ्यर्थियों का अंतिम रूप से चयन करके सभी जिलों में भेजा। दो दिन काउंसिलिंग के बाद शुक्रवार को सभी चयनितों को नियुक्ति पत्र वितरित किया गया। लेकिन सहायक शिक्षक पद पर करीब एक हजार अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं मिल सकी।

दरअसल, ये अभ्यर्थी अंतिम सूची में शामिल थे लेकिन इनमें से कुछ काउंसलिंग में शामिल नहीं हो सके तो कुछ के अभिलेख ऑनलाइन आवेदन और मेल अभिलेख से अलग थे। इस वजह से करीब एक हजार अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं मिल सकी है। परिषद सचिव ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया था कि जिन अभ्यर्थियों के मूल अभिलेख शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा के लिए आनलाइन आवेदन से मेल नहीं खा रहे हों उन्हें नियुक्ति पत्र निर्गत न किया जाए। इसलिए ऐसे अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया है। हालांकि शीर्ष कोर्ट ने अर्चना सिंह मामले में अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन में सुधार करने का अवसर देने का आदेश दिया था लेकिन उसके लिए अब तक वेबसाइट खोली नहीं जा सकी है। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल ने बताया कि नियुक्ति पाने वाले 30235 अभ्यर्थियों को बीएसए कार्यालय में ही ज्वाइन कराया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: आरएसएस के तीन करोड़ दीपकों से जगमगाएगी दीवाली, चार हजार महिला समूह मिलकर बनाएंगी दीए

ये भी पढ़ें: 16 लाख कर्मचारियों को योगी सरकार का तोहफा, त्योहार पर मिलेगा 'स्पेशल फेस्टिवल पैकेज'

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned