NTPC Boiler Blast: मंत्री केशव प्रसाद मौर्य का आया बड़ा बयान, जानें उन्होंने क्या बोला

NTPC Boiler Blast: मंत्री केशव प्रसाद मौर्य का आया बड़ा बयान, जानें उन्होंने क्या बोला
Minister Keshav Prasad Maurya

Shatrudhan Gupta | Updated: 03 Nov 2017, 07:31:23 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

घायल मरीजों से मिलने के लिए योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या लखनऊ के सिविल हॉस्पिटल पहुंचे।

लखनऊ. रायबरेली में नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) NTPC Boiler Blast हादसे में मृतकों की संख्या अब बढ़कर 32 हो गई है। इसकी पुष्टि एनटीपीसी ने की है। वहीं, एनटीपीसी हादसे में घायल मरीजों से मिलने के लिए योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या लखनऊ के सिविल हॉस्पिटल पहुंचे। यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार घायलों के इलाज के लिए हर संभव मदद कर रही है। उनके इलाज में कोई भी कोताही न बरते के निर्देश अफसरों को दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि हादसे में घायल लोगों को सरकार हर संभव मदद करेगी।

कहीं न कही सुरक्षा में लापरवाही: मौर्या

कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि एनटीपीसी के बॉयलर NTPC Boiler Blast स्टीम पाइप में ब्लास्ट मौके पर मौजूद अधिकारियों की लापरवाही से हुई है। सुरक्षा में लापरवाही जरूर कहीं न कही से हुई है। सरकार इसकी जवाबदेही भी तय करेगी। उन्होंने कहा कि इस भीषण हादसे की जांच के लिए पहले ही आदेश दिए जा चुके है। इस हादसे के लिए जो भी दोषी होगा, उसे सरकार कतई नहीं छोड़ेगी। उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि इस मामले में सरकार की मंशा पूरी तरह साफ है।

एनटीपीसी एजीएम की इलाज के दौरान मौत

वहीं, लखनऊ के सिप्स हॉस्पिटल में घायल एनटीपीसी के तीन एजीएम मिश्री लाला, प्रभात कुमार, संजीव शर्मा को इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। इनमें से एजीएम मिश्री लाला, प्रभात कुमार को गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में एयर एम्बुलेंस से ले जाया गया। वहीं, आज इलाज के दौरान दिल का दौरा पडऩे से एजीएम संजीव शर्मा की लखनऊ में मौत हो गई।

मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने गुरुवार को रायबरेली के ऊंचाहार स्थित नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन (एनटीपीसी) NTPC Boiler Blast के प्लांट में हुए हादसे पर योगी सरकार को नोटिस जारी किया है। एनएचआरसी ने छह हफ्ते में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। वहीं, एनएचआरसी ने प्रदेश सरकार को निर्देश देते हुए कहा है कि मामले में किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं बरती जाए। यही नहीं, सरकार यह सुनिश्चित करे कि मृतकों के परिजनों को बिना किसी देरी के समुचित आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जाए।

एनटीपीसी भी देगा भारी मुआवजा

इस दर्दनाक हादसे में मृतकों के परिजनों को एनटीपीसी प्रबंधन 20 लाख, गंभीर रूप से घायल को 10 लाख और घायलों को 2 लाख रुपए का मुआवजा देगा। एनटीपीसी की तरफ से काम के दौरान मिलने वाला और लाख का मुआवजा भी मिलेगा। एनटीपीसी प्रबंधन के मुताबिक इस हादसे की जांच एनटीपीसी की एक्सपर्ट कमेटी करेगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned