अपर जिलाधिकारी के बेटे ने सुपारी लेकर की हत्या, मृतक का बेटा निकला साजिशकर्ता

एडीएम के बेटे सुपारी लेकर की टाइल्स मिस्त्री की बेरहमी से हत्या।

By: Dhirendra Singh

Published: 18 Aug 2017, 09:54 PM IST

लखनऊ. पीजीआई थाना क्षेत्र में चाकू मारकर हत्या और लाश को जलाने का प्रयास करने के मामले का पुलिस ने खुलासा किया है। इस हत्या कांड में मृतक का कलयुगी बेटा साजिशकर्ता निकला। वहीं हत्या के लिए एक लाख की सुपारी लेने वाले आरोपी की पहचान आगरा अपर जिलाधिकारी के बेटे यशार्थ उर्फ अमित सिंंह के रूप में हुई है। पुलिस ने मृतक के बेटे गुलशन समेत सरवन साहू, करन साहू, अनवर अली, यशार्थ को गिरफ्तार कर लिया है।

पिता की हत्या के लिए एसडीएम के बेटे को दी सुपारी
एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि मृतक राजेश कुमार टाइल्स मिस्त्री का काम करता था। गत 8 अगस्त को उसकी हत्या करने के बाद शव को अधजली हालत में आरोपी नाले में फेंककर फरार हो गए थे। इसके बाद एएसपी नार्थ अनुराग वत्स के नेतृत्व में सीओ कैंट तनु उपाध्यय, पीजीआई थाना प्रभारी ब्रिजेश राय व उनकी टीम ने इस केस का खुलासा किया। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि मृतक का बेटा गुलशन अपने पिता से बचपन से ही परेशान था। क्योंकि वह परिवार पर ध्यान नहीं देता था। बचपन में उसकी मां को घर से भगा दिया। फिर उसकी बहन को कहीं छोड़ आया। बचपन में गुलशन की पढ़ाई भी बंद करा दी। इसके बाद एक महिला से शादी कर उसे घर ले आया। इसके बाद भी बाहर उसका प्रेम-प्रसंग चल रहा था। बचपन से इसी नफरत के चलते वह अपने पिता को मारना चाहता था। गुलशन ने अपने दोस्त सरवन से अपने पिता को मारने के लिए मदद मांगी। सरवन ने इस काम के लिए उसकी मुलाकात यशार्थ से कराई। यशार्थ ने खुद को पुलिस के सामने आगरा एसडीएम का बेटा बताया। जो कि महज 10वीं पास है, उसके बाद पढ़ाई छोड़ दी। यशार्थ ने हत्या करने के लिए एक लाख रूपये की सुपारी मांगी थी।

हत्या के लिए अपनाया शातिर तरीका
गुलशन ने सुपारी के एक लाख रूपये यशार्थ को दे दिए थे। इसके बाद उसने पहले गोमतीनगर और सरोजनी नगर से दो मोबाईल लूटें। वहीं एक चोरी की कार का इंतजाम किया। उसने गोमतीनगर से चोरी के मोबाईल से सिम निकालकर चोरी दूसरे मोबाइल में लगा अपने टारगेट राजेश कुमार को कॉल की। उसे आरोपियों ने काम देने के बहाने अवध विहार योजना के पास बुलाया। इसके बाद यशार्थ चोरी की कार में बाकी सबके साथ वहां पहुंचा। फिर राजेश की चाकू से गला रेत हत्या कर दी। इसके बाद बॉडी को नाले में फेंकर जलाने की कोशिश की। वहीं कोई सबूत न छोड़ने के लिए चोरी की कार को आनन्दी पार्क के पीछे ले जाकर जला दिया था।

Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned