तीन घंटे से पहले पार किया आगरा एक्सप्रेस वे, तो लगेगा तगड़ा झटका, आएगा ये चौंकाने वाला ई-मेल

-Agra Lucknow Expressway पर फर्राटा भरना पड़ेगा भारी, कटेगा ई-चालान
-फर्राटा भरने की वजह से अब तक 25 का ई-चालान जारी
-तीन महीने में हुए 402 हादसे

By: Ruchi Sharma

Updated: 01 Jul 2019, 12:22 PM IST

लखनऊ. आगरा-लखनऊ-एक्सप्रेस-वे (Agra-Lucknow Expressway) पर आय दिन हो रहे सड़क हादसे पर काबू पाने के लिए प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब अगर एक्सप्रेस-वे पर तेज स्पीड से गाड़ी दौड़ाई तो ई-चालान कर दिया जाएगा। वाहन चालकों द्वारा गति सीमा का उल्लंघन करने पर ई-चालान (e-challan) की कार्रवाई शुरू कर दी है। इसकी जानकारी यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। उन्होंने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आए दिन दुर्घटनाएं होने से यह कदम उठाया जा रहा है। तेज गति होने से जरा-सी भी लापरवाही जानलेवा हो जा रही है। एक्सप्रेस-वे पर ड्राइवरों के झपकी ले लेने से भी कई दुर्घटनाएं हो जाने की खबरें आई हैं। इसको ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया है।

अब तक 25 का ई-चालान जारी

अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए आगे बताया कि यूपीडा ने आगरा और लखनऊ दोनों टोल प्लाजा पर यह व्यवस्था की है कि यदि कोई गाड़ी आगरा से लखनऊ या लखनऊ से आगरा तक की दूरी तीन घंटे से पहले तय कर लेती है तो उसका निश्चित चालान किया जाएगा। अब तक 25 ई-चालान जारी किए गए हैं। यह निर्देश सख्त तौर पर दिए गए है।

ई-मेल के माध्यम से भेजा जा रहा कार्यालय

उन्होंने बताया कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा आगरा (21 किलोमीटर) व लखनऊ (290 किलोमीटर) पर स्थापित किए गए आधुनिक उपकरणों द्वारा ली गई फोटो आदि डेटा की रिपोर्ट ई-मेल के माध्यम से लखनऊ व आगरा जिले के एसटी ट्रैफिक के कार्यालय को भेज कर ई-चालान जारी कराया जा रहा है। इस संबंध में यूपीडा ने एसएसपी लखनऊ व एसएसपी आगरा को पहले ही अनुरोध पत्र भेज रखा है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे

20 माह में हुए 2,368 सड़क हादसे

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे हादसों का एक्सप्रेस-वे बन गया है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर प्रतिदिन औसतन 4 सड़क हादसे होते हैं। यूपीडा द्वारा आगरा के आरटीआई एक्टिविस्ट आंकड़े के मुताबिक बीते 20 माह में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर 2,368 सड़क हादसे हुए, जिनमें 227 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही इन सड़क हादसों में सैकड़ों की संख्या में लोग घायल हुए, जिनमें से कई ऐसे लोग भी हैं, जो अभी तक ठीक से चल फिर भी नहीं पा रहे हैं और दिव्यांगता का दंश झेलने के लिये मजबूर हैं।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे

तीन महीने में हुए 402 हादसे

आगरा एक्सप्रेस-वे रफ्तार के रोमांच में एक्सप्रेस-वे हादसों के चलते मौत का सफर बन रहा है। जनवरी 2019 से मार्च 2019 तक फर्राटा दौड़ते वाहनों के टायर पंक्चर, हाई स्पीड, ओवरटेक, ड्राइवर के नींद आने सहित अन्य कारणों से 402 सड़क हादसे हुए। इसमें 222 लोग घायल हो गये जबकि 36 लोगों की मौत हो गयी।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned