अहमदाबाद-लखनऊ एक्सप्रेस ट्रेन के पहिये के दो हेंगर टूटे, मचा हड़कंप

अहमदाबाद-लखनऊ एक्सप्रेस ट्रेन के पहिये के दो हेंगर टूटे, मचा हड़कंप
Ahmedabad Lucknow Express

Shatrudhan Gupta | Publish: Nov, 28 2017 08:32:53 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

कायमगंज से फर्रुखाबाद तक ट्रेन के पहिए के टूट चुके हैंगर के साथ दौड़ती चली गई।

लखनऊ. एक बड़ा ट्रेन हादसा होते-होते बच गया। दरअसल, अहमदाबाद-लखनऊ एक्सप्रेस ट्रेन मंगलवार को पलटने से बाल-बाल बच गई। जानकारी के मुताबिक कायमगंज से फर्रुखाबाद तक ट्रेन के पहिए के टूट चुके हैंगर के साथ दौड़ती चली गई। गनीमत रही कि तेज आवाज सुन सतर्क हुए यात्रियों ने इसकी जानकारी फर्रुखाबाद स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही रेल कर्मचारियों को दी। इस सूचना के बाद रेलवे में हड़कंप मच गया। फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन पर अहमदाबाद-लखनऊ एक्सप्रेस करीब डेढ़ घंटे तक खड़ी रही। यहां रेल इंजीनियरों ने टूटे हैंगरों को बदला, इसके बाद ट्रेन आगे के लिए रवाना की गई।

हैंगर टूटे देख कर्मचारी सहम गए

बताया जाता है कि अहमदाबाद-लखनऊ एक्सप्रेस मंगलवार करीब डेढ़ घंटे विलंब से सुबह 11 बजे फर्रुखाबाद स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर पांच पर पहुंची। बताया जाता है कि गार्ड के आगे वाली बोगी के पहिए के दोनों हैंगर टूटे हुए थे। ट्रेन चली तो पहिए से आवाज आने लगी तो यात्रियों में हड़कंप मच गया। यात्रियों ने इसकी जानकारी रेलवे कर्मचारियों को दी। कैरिएज विभाग की टीम ने आकर टे्रन के पहियों की जांच की। हैंगर टूटे देख कर्मचारी सहम गए।

वरिष्ठ रेलवे अधिकारी भी पहुंंचे मौके पर

फर्रुखाबाद स्टेशन अधीक्षक उमाशंकर प्रसाद कौशिक, सीनियर सेक्शन इंजीनियर आशुतोष कुमार समेत कई अन्य रेलवे अधिकारी सूचना पाकर मौके पर पहुंच गए। कैरिएज विभाग के कर्मियों ने जैक लगाकर बोगी को उठाया। इसके बाद टूटे हैंगर निकालकर नए हैंगर डालने का काम किया गया। नए हैंगर लगने में करीब सवा घंटे लग गए। इसके बाद ट्रेन आगे के स्टेशन के लिए रवाना की गई। बताया जाता है कि इस दौरान कुछ यात्रियों ने ट्रेन चलने का समय न बताने पर स्टेशन पर ही हंगामा शुरू कर दिया।

यात्रियों ने किया हंगामा

जानकारी के मुताबिक फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन पर काफी देर तक ट्रेन खड़ी होने के कारण यात्री नाराज हो गए। नाराज यात्रियों ने स्टेशन पर ही हंगामा शुरू कर दिया। यात्रियों के मुताबिक रेल अधिकारी ट्रेन चलने का समय ही नहीं बता रहे थे। कई बार पूछने के बाद भी वह समय नहीं बता रहे थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned