scriptAjodhya ram mandir latest news | रामलला की प्रतिमा स्थापित करने से पहले देश भर के संतों से ली जाएगी राय | Patrika News

रामलला की प्रतिमा स्थापित करने से पहले देश भर के संतों से ली जाएगी राय

दिसंबर 2023 तक मंदिर निर्माण के कार्य को पूरा करने के बाद भगवान श्री राम लला के गर्भगृह में चल और अचल प्रतिमाओं को स्थापित करने पर मंथन चल रहा है। पूर्व में हुई ट्रस्ट की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि श्री रामलला की चल प्रतिमा के रूप में विराजमान किया जाएगा साथ ही एक बड़ी अचल प्रतिमा भी स्थापित करने का प्रस्ताव भी तैयार किया गया है। प्रतिमा की स्थापना के लिए रामानंद संप्रदाय सहित देश भर से अनेक संप्रदाय के संतों के सुझाव लिए जाएंगे।

लखनऊ

Published: April 30, 2022 04:00:11 pm

अयोध्या. राम जन्मभूमि परिसर में भगवान श्री राम की प्रतिमा स्थापित करने से पहले देश भर के संतों से राय ली जाएगी। संतों की राय लेने के लिए तीन सदस्यीयों की कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी देश के प्रमुख संतों, धर्माचार्यों से विचार विमर्श कर सुझाव एकत्रित करेगी। देश भर के संतों से एकत्रित किए गए विचारों की ट्रस्ट की अगली बैठक में पेश किया जाएगा। ट्रस्ट के मुताबिक राम मंदिर रामानन्द सम्प्रदाय से जुड़ा हुआ है इसलिए मंदिर निर्माण में उनकी पद्धति व परम्परा को प्रमुखता दी जाएगी।
plan.jpg
गर्भगृह में श्री रामलला की स्थापित होगी चल-अचल प्रतिमा

दिसंबर 2023 तक मंदिर निर्माण के कार्य को पूरा करने के बाद भगवान श्री राम लला के गर्भगृह में चल और अचल प्रतिमाओं को स्थापित करने पर मंथन चल रहा है। पूर्व में हुई ट्रस्ट की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि श्री रामलला की चल प्रतिमा के रूप में विराजमान किया जाएगा साथ ही एक बड़ी अचल प्रतिमा भी स्थापित करने का प्रस्ताव भी तैयार किया गया है। प्रतिमा की स्थापना के लिए रामानंद संप्रदाय सहित देश भर से अनेक संप्रदाय के संतों के सुझाव लिए जाएंगे।
ट्रस्ट के सदस्य ने दी जानकारी

राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल में जानकारी देते हुए बताया कि राम मंदिर में देशवासियों की भावना जुड़ी हैं ऐसे में सबकी भावनाओं का सम्मान रहे इसके लिए संतों की राय लेना आवश्यक माना है ट्रस्ट में पांच बड़े संत शामिल हैं। इनमें से देश के विभिन्न संस्थाओं से परामर्श के लिए दो प्रमुख संतों को जिम्मेदारी दी गई है।
कितनी बड़ी होगी श्री रामलला की अचल प्रतिमा

वास्तु शास्त्र के विद्वान की मानें तो भगवान श्री रामलला बालस्वरूप में है इसलिए उन्हें बालक रूप में बैठी अवस्था में विराजमान कराना मंदिर की गरिमा के अनुरूप होगा। वहीं संतों की माने तो राम जन्मभूमि परिसर में आने वाले श्रद्धालुओं को रामलला का दर्शन साक्षात हो सके इसके लिए उनकी प्रतिमा को एक निर्धारित आकार में ही रखी जाएगी। जिससे श्री रामलला का दर्शन कर श्रद्धालु अपने आपको संतुष्ट कर सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव31 साल बाद जेल से छूटेगा राजीव गांधी का हत्यारा, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशगुजरातः चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हार्दिक पटेल ने दिया इस्तीफा, BJP में शामिल होने की चर्चाकान्स फिल्म फेस्टिवल में राजस्थान का जलवा, सीएम गहलोत ने जताई खुशीऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा फैसला, ज्ञानवापी सर्वे मामले को टेक ओवर करेगा बोर्डआतंकियों के निशाने पर RSS मुख्यालय, रेकी करने वाले जैश ए मोहम्मद के कश्मीरी आतंकी को ATS ने किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.