शिवपाल को बाहर का रास्ता दिखाएंगे अखिलेश!

शिवपाल को बाहर का रास्ता दिखाएंगे अखिलेश!

Ashish Pandey | Publish: Sep, 08 2018 03:03:51 PM (IST) | Updated: Sep, 08 2018 03:10:49 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

शिवपाल को सपा से निकालने का जल्द ले सकते हैं फैसला।

 

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव को लेकर अखिलेश जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। माना जा रहा है कि शिवपाल को सपा से निकालने की घोषणा हो सकती है। शिवपाल यादव ने सेक्युलर मोर्चा बना लिया है, लेकिन अभी वे सपा से अपना नाता नहीं तोड़े हैं। वहीं पार्टी ने भी शिवपाल के इस कदम पर अभी तक कोई एक्शन नहीं लिया है। सूत्रों की मानें तो एक-दो दिन में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव शिवपाल यादव पर कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा सकते हैं।
शिवपाल के सेक्युलर मोर्चा के गठन के एलान के बाद भी अभी पार्टी में कई लोग यही मान रहे हैं कि सुलह की गुंजाइस है। अगर सुलह हो भी जाता है तो भी शिवपाल का सपा में बने रहना आसान नहीं होगा क्यों कि जिस तरह से अखिलेश यादव शिवपाल को दो साल से पार्टी में हासिए पर ला दिए हैं, उससे तो यही लगता है कि सूलह के बाद भी शिवपाल की स्थिति पार्टी में कोई खास नहीं रहेगी।
शिवपाल के लिए भी अच्छा नहीं होगा
अगर मान लिया जाए कि शिवपाल यादव सेक्युलर मोर्चा के गठन से अपना कदम वापस खींच लें और सपा में बने रहें तो भी शिवपाल के लिए आने वाले दिनों में दिक्कतें कम होती नहीं दिख रही हैं क्यों कि शिवपाल को भी मालूम है कि अब सपा की कमान नेता जी यानी मुलायम सिंह यादव के हाथ में नहीं आने वाली है। अब सपा मतलब अखिलेश यादव ही है। मतलब साफ है कि अगर सपा में रहना है तो अखिलेश के कहने पर ही चलना है। दो साल में शिवपाल की पार्टी में रहते हुए जो अनदेखी हुई है वह किसी से छिपी नहीं है। अब शिवपाल पर निर्भर करता है कि वे फिर से सपा में ही रहना पसंद करेंगे या अपने मोर्चे को आगे लेकर यूपी की सियासत में नया अध्याय लिखेंगे।

यहां कमान होगी उनके हाथ
शिवपाल यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन का ऐलान तो कर दिया है। यहां पर अगर शिवपाल यादव मोर्चा को आगे बढ़ाते हैं तो मोर्चा के सर्वे-सर्वा वे ही होंगे। वहीं अगर वे सपा में ही बने रहते हैं तो उनकी स्थिति वहां पर कितनी मजबूत होगी यह तो समय ही बताएगा। यहां पर मोर्चा में सब कुछ शिवपाल सिंह यादव के हाथ होगा।

सूत्रों की मानें तो समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल के रूख पर लगातार नजर बनाए हुए हैं, अगर शिवपाल के रूख में जल्द ही कोई परिवर्तन नहीं होता है तो अखिलेश यादव जल्द ही शिवपाल पर कड़ा फैसला ले सकते हैं मतलब शिवपाल को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा सकते हैं।

 

Ad Block is Banned