शिवपाल के मुद्दे पर अखिलेश हुए नरम, घर वापसी के संकेत

शिवपाल के मुद्दे पर अखिलेश हुए नरम, घर वापसी के संकेत
Akhilesh turns soft on Shivpal issue, signs of homecoming

Anil Ankur | Updated: 20 Sep 2019, 04:54:22 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India


शिवपाल के नाम आने पर हमेशा बिदकने वाले अखिलेश की बॉडी लेंगुएज में दिखा बदलाव
बसपा पूर्व अध्यक्ष दयाराम पाल सपा में शामिल

लखनऊ। बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एमएलसी दयाराम पाल और मिठाई लाल भारती के सपा में शामिल होने के मौके पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की भाव भंगिमा शिवपाल सिंह यादव के प्रति नरम दिखी। शुक्रवार को उन्होंने इशारों में शिवपाल के पार्टी में आने के संकेत दिए हैं। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवपाल की पार्टी में वापसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि हर किसी के लिए दरवाजे खुले हैं। जो पार्टी में आएगा उसे आंख बंद करके शामिल कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनके परिवार में कोई झगड़ा नहीं। परिवार एक है कोई अलग नहीं है। हमारे घर में लोकतंत्र है। कोई भी कहीं जा सकता है और कोई भी आ सकता है।

मिशन 22 को हासिल करना है तो परिवार बढ़ाना होगा

जब संवाददाता ने उनके चाचा शिवपाल को फिर से एसपी में शामिल किए जाने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि कहा जाता था कि एसपी में परिवारवाद है। यह परिवारवाद नहीं लोकतंत्र है। हमारे ऊपर आरोप लगते हैं लेकिन परिवार एक है। परिवार अलग नहीं है। जो जिस विचारधारा में जाना चाहे जाए और जो वापस आना चाहता है आए। उन्होंने कहा कि वह अपना परिवार बढ़ाएंगे, अगर परिवार नहीं बढ़ाया तो 22 का मुकाबला कैसे करेंगे। अखिलेश ने कहा कि सबके लिए दरवाजे खुले हैं। जो आना चाहे शामिल कर लेंगे। अखिलेश आज काफी खुश दिख रहे थे।

अपर्णा यादव के भाजपा ज्वाइन करने पर यूं दिया जवाब

अखिलेश यादव से जब पूछा गया कि क्या अपर्णा यादव भाजपा में शामिल होने जा रही हैं, तो उन्होंने फिर हंसते हुए कहा कि हमारे यहां लोकतंत्र है। कोई बंदिश नहीं है। जिसे जहां जाना हो जाए, पर हम अपना कुनबा बढ़ाएंगे। जिनता बड़ा परिवार हमारा है, उतना किसी का नहीं होगा। हम सब एक हैं।

पहले डिवाइड ऐंड रूल था अब डराओ ऐंड रूल

सपा अध्यक्ष बोले कि पहले डिवाइड ऐंड रूल था अब डराओ ऐंड रूल हो रहा है। डिवाइड ऐंड रूल वाले अंगे्रजों को देश से भगा दिया गया, अब डराने वाले लोग भी बाहर जाएंगे। यह सरकार झूठे केस, सीबीआई, ईडी और आईटी का डर दिखाने वाली है। इससे बचे तो प्लांट खबरें चलवाकर दूसरों को बदनाम करते हैं। अखिलेश ने कहा कि यूपी सरकार का काउंट डाउन शुरू हो गया है। कोई कुछ भी कर ले, जनता सब जानती है। बस मत पत्र के जरिए चुनाव कराए जाएं।

फिर आजम का किया बचाव

सपा सांसद आजम खान का बचाव करते हुए अखिलेश ने कहा कि वह पूछना चाहते हैं कि शिकायतकर्ता दस साल, बारह साल चुप रहे। योगी सरकार के दो साल बीत गए एक भी मामला सामने नहीं आया। लोकसभा का चुनाव खत्म हुआ और दबाव में लोग बाहर निकलकर आ गए। लोगों को बुलाकर कहा जा रहा है ऐसे शिकायत लिखो। आजम का कसूर सिर्फ इतना है कि उन्होंने यूनिवर्सिटी बनाई है, इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई हो रही है। इसकी रिपोर्ट बनाकर यूपी सीएम को भेजी है। सपा अध्यक्ष फिर बोले कि अब मुद्दा 2022 का है। प्रदेश की जनता को पुलिसिया ज्यादती से बचाने की जरूरत है। उसके लिए सपा पूरे दम से जनता के लिए संघर्ष करेगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned