अखिलेश को मिलेगा और झटका- शिवपाल के मोर्चे में अभी और शामिल होंगे बड़े बड़े सपाई

शिवपाल ने दौरा करके लोगों को जोडऩे की योजना

 

Anil Ankur

September, 1301:59 PM

Lucknow, Uttar Pradesh, India

अनिल के. अंकुर
लखनऊ. सपा मुखिया अखिलेश यादव को जल्द ही शिवपाल सिंह यादव एक और बड़ा झटका देने वाले हैं। शिवपाल सिंह यादव ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। अब सपा से उन नेताओं को वे अपने समाजवादी सेक्युलर मोर्चे से जोड़ेंगे जो सपा में उपेक्षित चल रहे हैं और पिछले विधानसभा चुनाव में अखिलेश ने टिकट काट दी थी।

जिनको मिली थी टिकट अखिलेश ने काट दिया था नाम

शिवपाल ने अखिलेश को अचानक उस वक्त झटका दिया जब उन्होंने सेक्ुयलर मोर्चा बनाने का ऐलान किया। अब दूसरा झटका उस वक्त मिलेगा जब सपा से खफा चल रहे नेताओं को वे अपने मोर्चे में जिम्मेदारी देंगे। शिवपाल टीम ने इस पर पूरी कवायद कर ली है कि उन्होंने विधानसभा चुनाव में किन किन लोगों को टिकट दिया था और अखिलेश यादव ने उनकी लिस्ट के कितने लोगों के नाम काट दिए थे। इसी प्रकार पार्टी के उन पदाधिकारियों को भी मोर्चे में शामिल किया जाएगा जिन्हें अखिलेश ने अपनी टीम में जगह नहीं दी है और उन पर यह आरोप है कि वे शिवपाल खेमे के हैं। अब वे सारे नेता शिवपाल सिंह यादव के मोर्चे से जुडऩे जा रहे हैं। इसकी औपचारिक घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी।

शिवपाल ने शुरूआत की प्रवक्ताओं से

सपा पार्टी में अनदेखी झेलने के बाद शिवपाल ने अब अपनी टीम की घोषणा करना भी शुरू कर दिया है। बुद्धवार को उन्होंने इसी योजना के तहत समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के प्रवक्ताओं की लिस्ट भी जारी की थी। इस लिस्ट में सपा सरकार में राज्य मंत्री रहे शारदा प्रताप शुक्ला का नाम सबसे ऊपर है। इनके अलावा दो बार सपा शासन में विधायक रह चुके सैयद शादाब फातिमा, दीपक मिश्र, सुधीर सिंह, नवाब अली अकबर, लविवि के पूर्व अध्यक्ष व समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक सिंह 'आशू', प्रो. दिलीप यादव, फरहत रईस खान और अरविंद यादव का नाम शामिल है।

दौरे करके शिवपाल टीम को कर रहे हैं संचालित

शिवपाल सिंह यादव अपनी टीम को पुनर्जीवित करने के लिए दौरे कर रहे हैं। बीते 18 दिनों में शिवपाल ने पश्चिम उत्तर प्रदेश और मध्य यूपी के करीब 22 जिलों के दौरे किए हैं। हर जिले में उन्होंने अपने खास समर्थकों के साथ बैठकें की। उनकी मनोभावनाओं को सुना और अब उसी के अनुसार आगे की रणनीति बनाने में जुटे हैं।

Anil Ankur
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned