अखिलेश यादव ने उपचुनाव में जीत के बाद मायावती के लिए कही यह बड़ी बात

अखिलेश यादव ने उपचुनाव में जीत के बाद मायावती के लिए कही यह बड़ी बात

Abhishek Gupta | Publish: Mar, 14 2018 07:34:42 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस जीत के लिए मायावती के लिए बड़ी बात कही है।

लखनऊ. लोकसभा उपचुनाव में हुई सपा की ऐतिहासिक जीत के बाद प्रदेश भर में सपा कार्यलयों में जीत का जश्न देखा जा रहा है। आपको बता दें कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का गढ़ कहे जाने वाले गोरखपुर संसदीय सीट पर सपा ने पहली बार ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। यहां पर सपा के प्रवीण निषाद ने भाजपा प्रत्याशी उपेन्द्र दत्त शुक्ल को 22037 वोटों से शिकस्त दी है। गोरखपुर में भाजपा को चार लाख 4,३४४७६, वोट मिले, जबकि समाजवादी पार्टी के इंजीनियर प्रवीण निषाद ने ४, 56,937 वोट हासिल किए थे। वहीं फुलपूर (इलाहाबाद) में भी सपा प्रत्याशी ने जीत का परचम लहराया है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस जीत के लिए मायावती का शुक्रिया अदा किया है और उन्हें शुभकामनाएं भी दी है। अखिलेश ने कहा कि मैं सबसे पहले बीएसपी की नेता कुमारी मायावती जी को भी धन्यवाद देता हूं। देश की महत्वपूर्ण लड़ाई में उनकी पार्टी और उनका समर्थन मिला। उनकी पार्टी के समर्थन के कारण ही इन चुनावों में जीत हासिल हुई है।

कई पार्टियों को दिया धन्यवाद-

इसी के साथ अखिलेश यादव ने कहा कि हम हर वर्ग के लोगों को मैं धन्यवाद देने चाहते हूं। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी, निषाद पार्टी, पीस पार्टी और जितने भी हमारे कम्यूनिस्ट दल हैं, उन्होंने मिलकर हमारा सहयोग किया है, मैं उन सभी का धन्यवाद कहना चाहता हूं। अखिलेश ने कहा कि इन तमाम दलों ने समय समय पर मिलकर हमें समर्थन दिया और जो परिणाम आया है वह इन सभी की मेहनत का ही नतीजा है।

भाजपा पर उठाए सवाल-

अखिलेश यादव ने सपा और बसपा के गठबंधन पर पूर्व में उठ रहे सवाल पर कहा कि वे पहले कहते थे कि सांप और छछूंदर का गठबंधन हुआ है। चोर-चोर मौसेरे भाई सहित न जाने क्या-क्या नहीं कहा गया। आखिर में समाजवादी पार्टी को औरंगजेब की पार्टी भी कह दिया गया।

आपको बता दें कि मायावती ने उपचुनाव में कोई प्रत्याशी न खड़ा कर समाजावादी पार्टी के प्रत्याशियों को अपना समर्थन देने की बात कही थी। इसी का नतीजा हाै कि आज दोनों सीटों पर सपा को लाखों वोट मिले और बड़े अंतर पर भाजपा को हार का सामना करना पड़ा।

Ad Block is Banned