अखिलेश यादव का सबसे बड़ा बयान, कहा - गोरखपुर में एक वर्ष में हजार से ज्यादा बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन ?

  • पुलिस की गोलियों से मरे हैं CAA के विरोध प्रदर्शन करने वाले
  • रोजगार के मुद्दे से भटकाना चाहती है सरकार
  • पूरे प्रदेश में साइकिल रैली निकालेगी समाजवादी पार्टी

By: Neeraj Patel

Published: 03 Jan 2020, 08:32 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को कोटा में बच्चों के मौत की तो चिन्ता है मगर गोरखपुर में बच्चों की मौत पर चुप क्यों हैं। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के दौरान जिनकी भी जान गई है, उनकी मौत पुलिस की गोलियों से हुई है। बीजेपी CAA और NPR पर जानबूझकर बात करती है ताकि रोजगार पर बहस न हो। बीजेपी संविधान के साथ खिलवाड़ कर रही है और समाज को बांटने का काम कर रही है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ये बातें कहीं।

शुक्रवार को सपा मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश यादव ने केन्द्र और प्रदेश की योगी सरकार पर तीखा हमला किया। अखिलेश यादव ने CAA, NRC और NPR, आईपीएस अधिकारी के द्वारा ट्रांसफर-पोस्टिंग के आरोप और सपा नेता आज़म खान के खिलाफ हुई कार्रवाई समेत कई मुद्दों पर बात की।

कोटा की चिन्ता मगर गोरखपुर में बच्चों की मौत पर चुप्पी क्यों

अखिलेश यादव ने मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को कोटा में बच्चों के मौत की तो चिन्ता है मगर गोरखपुर में बच्चों की मौत पर चुप क्यों हैं। उन्होंने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि गोरखपुर में पिछले 12 महीनों में हजार से ज्यादा बच्चों की मौत हुई है। ये सभी मौतें ग़लत दवाई दिये जाने की वजह से हुई हैं, उन्होंने सवाल उठाया कि इन बच्चों को सही दवाई क्यों नहीं दी गयी? आखिर इन मौतों का जिम्मेदार कौन है? अखिलेश यादव ने जल्द ही मृतक बच्चों की एक सूची जारी करने की भी बात कही। डॉक्टरों को बीमारी के बारे में जानकारी होने के बाद भी जानबूझकर उस बीमारी की दवा नहीं दी गयी। अगर सरकार चाहे तो मैं मरने वाले बच्चों की सूची भी देने को तैयार।

पुलिस की गोली से हुई प्रदर्शनकारियों की मौत

उन्होंने यूपी की पुलिस पर सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि, नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के दौरान जितनी भी जानें गयी हैं उन सभी को पुलिस ने मारा है। यही वजह है कि मरने वालों की पोस्ट-मॉर्टम रिपोर्ट को छुपाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये सरकार जानबूझकर CAA और NPR पर बात करती है ताकि बेरोजगारी के मुद्दे से ध्यान भटकाया जा सके।

राजाओं के पास महलों के कागज नहीं तो ग़रीब कहां से लाएगा

NRC और NPR पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि हम NRC और NPR के लिए कोई काग़ज़ात नहीं दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि जब यूपी में राजाओं-महाराजाओं के पास अपने महलों के काग़ज़ात नहीं हैं तो ग़रीब आदमी कहां से काग़ज लाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि ये NPR गरीबों और मुसलमानों के खिलाफ है इसलिए हम इसका विरोध करेंगे।

सपा निकालेगी पूरे प्रदेश में साइकिल रैली

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी जल्द ही पूरे प्रदेश में साइकिल रैली निकालेगी। हमारा नारा होगा "नहीं भरेंगे NPR, हमें चाहिए रोज़गार"। हालांकि ये रैली कब निकाली जाएगी इस बात की जानकारी उन्होंने नहीं दी।

अभी तक तो केवल यादवों को बर्खास्त किया है आपने...

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि रामपुर में आज़म खान के साथ कितना अन्याय हो रहा है। उन्होंने कहा कि ये मत भूलिये कि अगर रिपोर्ट में नाम है उनका तो अभी तक तो आपने केवल यादवों को टर्मिनेट किया है अगर जनता ने मौका दिया तो IPS की बर्खास्तगी की सिफारिश करेगी हमारी सरकार।

सरकार में कागज़ कभी खतम नहीं होता

अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार में कभी कागज़ खतम नहीं होता है। सरकारें आती-जाती रहती हैं मगर कागज़ खतम नहीं होते। ये बात अलग है कि अगर उन्हें जलाया ना जाए तो।

ट्रांसफर-पोस्टिंग में कौन कर रहा पैसों का लेन-देन

नोएडा एसएसपी वैभव कृष्णा द्वारा ट्रांसफर-पोस्टिंग में पैसों के लेन-देन के आरोप पर अखिलेश यादव ने कहा कि आईपीएस के ट्रांसफर किसके हाथ में होता है? उन्होंने कहा कि आखिर पैसों का लेन-देन कौन कर रहा इसका पता लगाया जाना चाहिये। ये कैसे IPS हैं जो साजिश कर रहे हैं।

अर्थव्यवस्था आईसीयू में

अखिलेश यादव ने सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि आज अर्थव्यवस्था डूब चुकी है। कोई भी आदमी नया कारोबार नहीं शुरू करना चाहता है। निर्यात के मामले में उत्तर प्रदेश बेहद पिछड़ गया है। अर्थव्यवस्था और बैंकिंग सेक्टर आईसीयू में पहुंच चुका है। सरकार नये-नये मुद्दों के सहारे बेतहाशा बढ़ रही महंगाई को छिपा रही है। अखिलेश यादव ने इलाहाबाद बैंक का उदाहरण देते हुए कहा कि सरकार की ग़लत आर्थिक नीतियों की वजह से इलाहाबाद बैंक खत्म होने की कगार पर है। उन्होंने बैंकों से पैसा लेकर भागे लोगों की सूची की भी मांग की।

प्रदेश में बिना मुख्यमंत्री वाली सरकार है

एक सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि ये सरकार बिना मुख्यमंत्री के चल रही है। सरकार ने गढ्ढे खत्म करने की तारीख निश्चित की थी मगर गढ्ढे नहीं खत्म हुए। हमारे तो सरकार में तो साढ़े पांच मुख्यमंत्री गिनाते थे मगर इनकी सरकार में तो एक भी मुख्यमंत्री नहीं है।

प्रियंका गांधी के डर जाने वाली बात ली चुटकी

प्रियंका गांधी द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस में सपा-बसपा के डरने वाली बात पर अखिलेश यादव ने चुटकी लेते हुए कहा कि हम लोग वाकई डरे हुए हैं। पहले कांग्रेस सीबीआई और ईडी के नाम पर डराती थी अब ये सरकार डरा रही है।

विवेक कुमार श्रीवास्तव की रिपोर्ट

CAA
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned