अखिलेश ने कहा, चाचा शिवपाल मेरे आदरणीय, उनका आशीर्वाद मेरे साथ

अखिलेश ने कहा, चाचा शिवपाल मेरे आदरणीय, उनका आशीर्वाद मेरे साथ
Akhilesh Yadav

Shatrudhan Gupta | Publish: Oct, 04 2017 09:03:39 PM (IST) | Updated: Oct, 04 2017 09:52:09 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

राष्ट्रीय अधिवेशन में भाग लेने आगरा पहुंचे सपा अध्यक्ष, अखिलेश ने कहा कि पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद हमेशा से उनके साथ ही रहा है और रहेगा।

अनिल के. अंकुर

आगरा/लखनऊ. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का प्रिय नारा रहा है, 'जिसका जलवा कायम है, उसका नाम मुलायम हैÓ। पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के लड़ाकू तेवरों को इस एक नारे के साथ प्रचारित करने का लंबा दौर रहा। वक्त के साथ हालात बदले और अखिलेश यादव के हाथ में सपा की कमान आ गई तो मुलायम हाशिए पर चले गए।

मुलायम के साथ शिवपाल के भी आने की उम्मीद

आगरा में कल यानी 5 अक्टूबर को पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन की पूर्व संध्या पर मुलायम सिंह यादव हाशिए से निकल फिर से एक बार समाजवादियों की जुबां पर आ गए हैं। सबके जेहन में एक ही सवाल है कि क्या मुलायम गुरुवार को राष्ट्रीय अधिवेशन में मंच पर दिखेंगे? इधर, बुधवार शाम को अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल यादव के प्रति नरम नजर आए। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि चाचा शिवपाल बड़े हैं। उनका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ रहा है और आगे भी रहेगा। एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने कहा कि पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद हमेशा से उनके साथ ही रहा है और रहेगा।

 

सपा के झंडों और अखिलेश-मुलायम के पोस्टरों से पटा शहर

अधिवेशन की पूर्व संध्या पर पूरा आगरा सपा के झंडों और अखिलेश-मुलायम के पोस्टरों से लद गया था। यहां तक की हाईवे और शहर के अंदर होर्डिंगों में सपा नेताओं की तस्वीरें अखिलेश के स्वागत में लगी हुई थीं। छोटे से लेकर बड़े होटल तक सपा समर्थकों के लिए आरक्षित हो गए थे। पूर्व विधायक अभय सिंह भी अपने समर्थकों के साथ होटल में कमरे की तलाश में दिखे। आगरा वह क्षेत्र है, जिसे बसपा का गढ़ कहा जाता है। जब यूपी में बसपा सरकार थी, तब इस क्षेत्र में सपा का नौवां राष्ट्रीय अधिवेशन वर्ष 2009 में हुआ था। गुरुवार को होने वाले इस सम्मेलन को राजनीतिक प्रेक्षकों से लेकर स्थानीय लोगों में खासा उत्साह दिख रहा है।

अखिलेश की एक झलक पाने को बेताब हैं युवा

आगरा कैंट के व्यापारी मधुर अग्रवाल कहते हैं, यहां के युवकों में अखिलेश को देखने की चाहत है। यही कारण है कि जिस रास्ते से अखिलेश के गुजरने की संभावना है, वहां-वहां युवकों ने आज दोपहर से ही अड्डा जमा लिया है। यह पूछे जाने पर कि आखिर क्या देखना चाहते हैं वे, आखिर इस परिवार में एकता होगी या नहीं। आगरा के युवकों को उम्मीद है कि सपा परिवार फिर से एक हो जाएगा। यही कारण है कि ताज नगरी में अखिलेश हर सड़क पर छाए हुए हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned