सपाइयों के लिए अखिलेश यादव का बड़ा इशारा, अभी मेरी तलवार चलनी बाकी!

सपाइयों के लिए अखिलेश यादव का बड़ा इशारा, अभी मेरी तलवार चलनी बाकी!
akhilesh yadav

Nitin Srivastva | Updated: 17 Dec 2016, 09:00:00 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

अखिलेश ने कहा कि मैंने अपनी राय नेता जी तक पहुंचा दी है, अभी कुछ भी फाइनल न माना जाए।

लखनऊ. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने संकेत दिया है कि वह आगामी विधानसभा चुनाव बुंदेलखंड से लड़ सकते हैं। उन्होंने यह कहकर सबको चौंका दिया कि बुंदेलखंड के कार्यकर्ता उन्हें बुंदेलखंड की किसी सीट से चुनाव लड़वाना चाहते हैं। अखिलेश ने कहा कि जनता की ओर से इस तरह का प्रस्ताव आया है। जनता चाहेगी और नेताजी कहेंगे तो वह बुंदेलखंड से चुनाव जरूर लड़ेंगे। सीएम ने कहा कि वैसे तो वह अभी विधान परिषद सदस्य हैं, लेकिन अगर चुनाव लड़ने को कहा जाता है तो वह इसके लिए तैयार हैं और वैसे भी बुंदेलखंड से अभी तक कोई सीएम नहीं हुआ है। अखिलेश ने कहा कि काम व हालात हमारे पक्ष में हैं और उन्हें भरोसा है कि उत्तर प्रदेश में सपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी।

चल सकती है मेरी तलवार
राहुल गांधी द्वारा उनकी लीडरशिप में यूपी का चुनाव लड़ने पर अखिलेश ने कहा कि यह राय तो उनकी है यही राय हमारी पार्टी के लोगों की हो तो बात कुछ आगे बढ़े। कौमी एकता दल के विलय पर अखिलेश ने कहा कि जब तक मैं पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष था तब तक ये नहीं होने दिया। उन्होंने कहा कि जब जनता का सामना करेंगे तो बैट छिन भी सकता है और तलवार भी चल सकती है। हालांकि मैं यह सब करने में विश्वास नहीं करता क्योंकि हमारी पार्टी उदाह है और इसमें लोकतंत्र है। जिन सीटों के टिकट पर मुझे कुछ कहना है उनकी सूची नेताजी को देंगे।

कांग्रेस के साथ में क्या दिक्कत
कांग्रेस से गठबंधन पर आगे बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि वह तो अकेले भी सरकार बनाने जा रहे हैं और अगर कांग्रेस से हमारा गठबंधन होता है तो चुनाव में 300 सीटें आनी तय हैं। इस संबंध में मैंने अपनी राय नताजी को दे दी है, अब इस पर वे जो फैसला करेंगे वही सबको मंजूर होगा। अखिलेश ने कहा कि चुनावी सफर में अगर एक साथी और जुड़ जाए तो इसमें हर्ज क्या है। अपने परिवार के बाहरी लोगों की ओर इशारा करते हुए अखिलेश ने कहा बीच के लोग गड़बड़ करते हैं इसलिए उनसे बात छुपाने के लिए गठबंधन पर कोई बात सामने नहीं आ रही है।

मैं चाहता हूं बीजेपी नोटबंदी जैसे फैसले ले
अखिलेश यादव ने कहा कि जनता उनके विकास कार्यों, मोदी सरकार के काम व नोटबंदी तीनों मुददों के आधार पर वोट देगी। सीएम ने कहा कि नोटबंदी से जनता नाराज है। हम तो चाहते हैं कि बीजेपी इसी तरह के और फैसले ले। अपनी पार्टी में परिवार के झगड़े, टिकट वितरण और गठबंधन पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि मैंने अपनी राय नेता जी तक पहुंचा दी है। अभी कुछ भी फाइनल न माना जाए। मायावती द्वारा उन्हें हताश बताए जाने पर अखिलेश ने कहा कि हताश तो वह हैं, जो बार-बार टीवी पर आकर बताती हैं कि वह हताश नहीं हैं। वहीं कांग्रेस से गठबंधन पर अखिलेश ने कहा कि राजनीति में जो बीच के लोग हैं, उनसे कुछ बातें छिपी रहें तो अच्छा है। प्रदेश को सेक्युलर सरकार की जरूरत है। बीजेपी वाले बहुत समझदार हैं, पता नहीं कब उसमें भी सर्जिकल स्ट्राइक कर दें।


ये भी पढ़ें:



Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned