बिजली दरों में बढ़ोत्तरी पर सपा का ट्वीट, कहा मध्यवर्गीय परिवार के साथ अन्याय

बिजली दरों में बढ़ोत्तरी पर सपा का ट्वीट, कहा मध्यवर्गीय परिवार के साथ अन्याय

Karishma Lalwani | Publish: Jun, 16 2019 01:10:11 PM (IST) | Updated: Jun, 16 2019 03:40:52 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- यूपी पावर कॉर्पोरशन ने बिजली दरों में बढ़ोत्तरी के लिए भेजा प्रस्ताव

- सपा ने की प्रस्ताव वापस लेने की मांग

- उपभोक्ता परिषद ने किया बढ़ोत्तरी का विरोध

लखनऊ. लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद लोगों को महंगी बिजली की मार झेलनी पड़ सकती है। यूपी पावर कॉर्पोरशन ने बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी के लिए यूपी विद्युत नियामक आयोग को प्रस्ताव भेजा है। घरेलू बिजली की दरें 6.20 से 7.50 रुपये प्रति यूनिट प्रस्तावित हैं। बिजली की दरों में जबरदस्त बढ़ोत्तरी पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। सपा ने बिजली दरों में 25 फीसदी वृद्धि का प्रस्ताव वापस लेने की मांग की है। वहीं राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने आपत्ति जताई है। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Srikant Sharma) से दरों की वृद्धि का प्रस्ताव वापस लेने की मांग की है।

सपा के ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'चुनाव खत्म उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार शुरू! बिजली की दरों में एक साथ 25 फीसदी की वृद्धि किसानों, बीपीएल परिवारों एवं मध्यमवर्ग के साथ अन्याय है। बेतहाशा वृद्धि वापस ले सरकार।'

बिजली दरों की बढ़त के लिए प्रस्ताव

यूनिट वर्तमान दर प्रस्तावित वृद्धि

0-150 4.90 रुपये 6.20 रुपये
151-300 5.40 रुपये 6.50 रुपये
301-500 6.20 रुपये 7 रुपये
500 से ज्यादा 6.50 रुपये 7.50 रुपये
घरेलू (बीपीएल) 3 रुपये से 100 यूनिट 3 रुपये से 50 यूनिट
घरेलू ग्रामीण (अनमीटर्ड) 400 रुपये किलोवाट प्रतिमाह 500 रुपये किलोवाट प्रतिमाह

फिक्स चार्ज में भी बढ़त

बिजली दरों के साथ फिक्स चार्ज में भी बढ़त करने का प्रस्ताव है। बिजली कंपनियों ने शहरी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं का प्रति किलोवाट फिक्स्ड चार्ज 100 रुपये से बढ़ाकर 110 रुपये करने का प्रस्ताव दिया है। वहीं, बीपीएल कनेक्शन पर फिक्स चार्ज 50 रुपये प्रति किलोवाट बढ़ाकर 75 रुपये प्रति किलोवाट का प्रस्ताव है।

ये भी पढ़ें: बिजली दरों में बढ़ोत्री के प्रस्वाव पर उपभोक्ता परिषद ने किया विरोध

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned