अखिलेश ने मायावती को दिया रिटर्न गिफ्ट, सौंपी सपा के 9 विधायकों की सूची

मायावती ने यह साफ कहा कि अखिलेश यादव अपने उन 9 समर्पित सपा विधायकों की लिस्ट दें जो बसपा कैंडिडेट भीमराव अंबेडकर के लिये वोट करेंगे।

By: Abhishek Gupta

Published: 22 Mar 2018, 05:37 PM IST

लखनऊ. समाजवादी पार्टी द्वारा बहुजन समाज पार्टी का कर्ज चुकाने की बारी आ गई और इसमें अखिलेश यादव बिल्कुल भी पीछे हटते नहीं दिख रहे हैं। फुलपुर और गोरखपुर में हुए लोकसभा उपचुनाव में बसपा ने सपा उम्मीदवारों को भारी समर्थन दिया था जिसके बाद सपा ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर मायावती का धन्यवाद दिया। वहीं आज सपा की कर्ज चुकाने की बारी आ गई है। मायावती ने यह साफ कहा कि अखिलेश यादव अपने उन 9 समर्पित सपा विधायकों की लिस्ट दें जो बसपा कैंडिडेट भीमराव अंबेडकर के लिये वोट करेंगे। ये इसलिए जरूरी है ताकि चुनाव में किसी भी तरह की क्रॉस वोटिंग न हो सके।

मायावती की इस मांग को पूरा करते हुए सपा ने विधायकों की लिस्ट बसपा को दे दी है। एक बड़ी वेबसाइट के मुताबिक, मायावती की इस मांग को सपा ने कुछ ही देर में पूरा कर दिया है। सपा ने अपने 9 विधायकों की सूची बसपा को सौंप दी है, जो वरीयता से अब भीमराव अंबेडकर को राज्यसभा चुनाव में वोट देंगे।

इसलिए मांगी सूची-

उत्तर प्रदेश में 10 सीटों के लिए कल होने वाले राज्यसभा चुनाव में 11 उम्मीदवार मैदान में हैं। भाजपा 324 विधायकों के बलबूते सबसे ज्यादा 8 सीटें जीतने में सक्षम है। वहीं सपा के एक सदस्य की जीत तय है। यूपी में राज्यसभा में एक उम्मीदवार को जिताने के लिए 37 विधायकों की जरूरत पड़ती है। प्रदेश के 403 विधायकों में से सपा के पास कुल 47 विधायक हैं जिसमें से 37 विधायक पार्टी उम्मीदवार जया बच्चन को फतह दिला देंगे। आखि में सपा के पास 10 वोट बचेंगे। जिनकी बसपा को बेहद जरूरत है। बसपा के पास 19 वोट हैं जबकि कांग्रेस के पास 7 और राष्ट्रीय लोकदल के पास 1 वोट है। ऐसे में इन दलों का गठबंधन ही 10वें सदस्य को राज्यसभा भेज सकता है, मगर जरा सी भी गड़बड़ी यहां पूरा खेल बिगाड़ सकती है। राज्यसभा चुनाव में विधायकों की क्रॉस वोटिंग का डर भी पार्टियों को खूब सता रहा है। यही कारण है कि बसपा सुप्रीमो ने सपा से अपने प्रत्याशी के लिए 9 विश्वस्त विधायकों की सूची जारी करने के लिए कहा था। जो प्रथम वरीयता में बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर को वोट करेंगे।

मायावती ने रखी डिनर पार्टी-

बुधवार को अखिलेश और सीएम योगी की तरह आज मायावती ने डिनर डिप्लोमेेटी का फंडा अपनाया है। जिसमें पार्टी के विधायकों को आमंत्रित किया गया है। सूत्रों की मानें तो बीसएपी को पार्टी में सेंधमारी की आशंका है, जिसके चलते वो एक-एक विधायक से खुद मिलेंगी और उनके मूड को समझेंगी।

Jaya Bachchan
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned