scriptयूपी के उपचुनाव में भी PDA फार्मूले पर आगे बढ़ेंगे अखिलेश यादव, कांग्रेस को मिलेगी इतनी सीट | Akhilesh Yadav will move forward on PDA formula in UP byelections Samajwadi Party and Congress | Patrika News
लखनऊ

यूपी के उपचुनाव में भी PDA फार्मूले पर आगे बढ़ेंगे अखिलेश यादव, कांग्रेस को मिलेगी इतनी सीट

लोकसभा चुनाव के बाद अब उत्तर प्रदेश में होने वाले उपचुनावों को लेकर तैयारी शुरू हो गई है। इसको लेकर सपा ने रणनीति तैयार कर ली है। उपचुनाव में सपा पीडीए फॉर्मूला लागू कर उम्मीदवार उतारेगी।

लखनऊJun 29, 2024 / 06:15 pm

Anand Shukla

Akhilesh Yadav will move forward on PDA formula in UP byelections Samajwadi Party and Congress
लोकसभा चुनाव में मिली जीत से उत्साहित समाजवादी पार्टी अब विधानसभा उपचुनाव में पीडीए फॉर्मूला लागू कर उम्मीदवार उतारेगी। पार्टी ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। सपा इस खास रणनीति से यूपी में भविष्य की राजनीति में खुद को मजबूत करने की फिराक में है।
सपा के सूत्रों के मुताबिक पीडीए फॉर्मूला के तहत अयोध्या की मिल्कीपुर सीट पर होने वाले उपचुनाव में अवधेश प्रसाद के बेटे अजित प्रसाद को टिकट दिया जा सकता है। अकबरपुर की कटेहरी सीट से लालजी वर्मा की बेटी छाया वर्मा भी सपा की बड़ी दावेदार हैं। फूलपुर सीट पर भाजपा को मजबूत टक्कर देने वाले अमरनाथ मौर्य पर पार्टी दांव लगा सकती है। यहां पर भाजपा उम्मीदवार ने बहुत मामूली अंतर से जीत हासिल की है। वहीं, करहल सीट को सपा मुखिया अखिलेश यादव ने छोड़ा है। यहां से तेज प्रताप यादव को उम्मीदवार बनाया जा सकता है।

संसद में सपा की धमक मजबूत करने में जुटे अखिलेश यादव

राजनीतिक जानकार बताते हैं कि अखिलेश यादव अभी दिल्ली में चल रही संसद की कार्यवाही में अपनी पार्टी की धमक काफी मजबूत बनाने में जुटे हैं। इधर सपा का प्रदेश नेतृत्व उपचुनाव की कवायद में जुट गया है। दावेदारों के नाम आने शुरू हो गए हैं। इसके आलावा वह खुद भी चक्कर लगाने लगे हैं। सपा भी लोकसभा के पीडीए फॉर्मूला लगाकर ही प्रत्याशी को महत्व देने का विचार कर रही है।

उपचुनाव में 1 सीट पर लड़ सकती है कांग्रेस

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सपा की नजर सभी विधानसभा सीटों पर है। इसके लिए जातीय समीकरण साधे जा रहे हैं। वहीं गठबंधन की सहयोगी कांग्रेस को सपा एक सीट देने का विचार कर रही है।

लोकसभा चुनाव में PDA फॉर्मूले से 37 सीटें पर जीत दर्ज की थी सपा

सपा ने सोशल इंजीनियरिंग का नया फार्मूला निकाला है। पार्टी पीडीए फॉर्मूले को और धार देना चाहती है। लोकसभा चुनाव में पीडीए (पिछड़ा, दलित, अल्पसंख्यक) फॉर्मूले से समाजवादी पार्टी 37 सीटें चुकी है। इसके साथ ही सपा देश की राजनीति में बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

इन सीटों पर होगें उपचुनाव

लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में जिन सीटों पर उपचुनाव होने हैं। उनमें मैनपुरी की करहल, अयोध्या की मिल्कीपुर, अंबेडकर नगर की कटेहरी, संभल की कुंदरकी, गाजियाबाद, अलीगढ़ की खैर, मीरापुर, फूलपुर, मझवां और सीसामऊ शामिल हैं।
अगर साल 2022 के विधानसभा चुनाव को देखें तो सपा ने करहल, मिल्कीपुर, कटेहरी, कुंदरकी और सीसामऊ जीती थी। वहीं भाजपा ने गाजियाबाद, खैर, फूलपुर सीट पर कब्जा किया था। वहीं, निषाद पार्टी ने मझवां पर विजय हासिल की थी, जबकि रालोद को मीरापुर सीट पर सफलता मिली थी। नौ सीटों पर विधायक सांसद बन गए हैं, जबकि एक सीट विधायक के सजा होने के बाद खाली हुई है।

Hindi News/ Lucknow / यूपी के उपचुनाव में भी PDA फार्मूले पर आगे बढ़ेंगे अखिलेश यादव, कांग्रेस को मिलेगी इतनी सीट

ट्रेंडिंग वीडियो