वर्तमान पार्षद का टिकट काट अखिलेश ने अपने पारिवारिक नाई को दिया टिकट

लिस्ट के जारी होते ही कई पार्षदों और नेताओं ने छोड़ी पार्टी, बुकक्ल नवाब के बेटे ने भी दिया इस्तीफा

By: Dikshant Sharma

Updated: 03 Nov 2017, 08:29 PM IST

लखनऊ। समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को लखनऊ के 110 वार्डों में से 96 वार्डों के लिए पार्षद प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। बाकी 14 वार्डों की सूची बाद में जारी की जाएगी। लिस्ट के जारी होते ही पार्टी के कई नेता बगावती सुर गुनगुनाते दिख रहे हैं। दरअसल सपा ने लखनऊ सदन के छह वर्तमान पार्षदों का टिकट काट दिया है। पार्टी का तर्क है कि मौजूदा पार्षद पार्टी की अपेक्षा पर खरे नहीं उतरे वहीँ निवर्त्तमान पार्षद दबे मुँह ही सही लेकिन निर्दलीय मैदान में उतरने की बात कह रहे हैं।

पारिवारिक नाई को दिया टिकट
महात्मा गांधी वार्ड से 2012 में संगीता यादव को सपा ने चुनावी मैदान में उतारा था। संगीता जीत के सदन भी पहुंची। लेकिन इस चुनाव में सपा ने संगीता पर भरोसा नहीं जताया। इसके बदले मुलायम - अखिलेश के पारिवारिक हेयरड्रेसर (नाई) रहे शारिक सलमानी को टिकट दिया गया है। शारिक ने कहा कि उनके भाई कई साल से अखिलेश यादव के हेयरड्रेसर के तौर पर काम करते रहे हैं। इसके साथ वे पार्टी कार्यकर्ता भी हैं। पूर्व पार्षद ने पब्लिक टॉयलेट पर कब्ज़ा कर रखा था और वे जनता के बीच भी नहीं रहती थीं। इसकी शिकायत राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से गयी जिसके बाद पार्टी ने ये फैसला लिया है। जबकि संगीता ने इन आरोप को झूठा बताते हुए इस कदम को पार्टी को समर्पित कार्यकर्ताओं का अपमान बताया।

परिसीमन के चलते इनका कटा टिकट
नए परिसीमन के चलते के चलते वजीरगंज और मशकगंज एक वार्ड हो गए हैं। इसी के चलते पूर्व पार्षद लक्ष्मी नारायण का टिकट काट गया और वजीरगंज पार्षद नईम नम्मू की पत्नी सायमा नईम को टिकट दिया है। इसके अलावा विक्रमादित्य वार्ड से पार्षद रहे नीरज यादव का टिकट काट संजय यादव को टिकट दिया गया है।

इन पार्षदों ने सपा को कहा बाई-बाई
पिछले कार्यकाल में पार्षद रहने के बाद इस बार टिकट न मिलने पर तीन अन्य पार्षदों ने भी पार्टी का दामन छोड़ दिया है। इनमें हाल ही भाजपा का दामान पकड़ने वाले बुकक्ल नवाब के बेटे फैजल नवाब भी शामिल हैं। इनके साथ ही साइमा लईक और शिवपाल सांवरिया ने भी पार्टी छोड़ दी है।


दो पदाधिकारियों ने छोड़ा पार्टी का साथ, तो एक के छलके आंसू
पार्टी के अलग अलग विंग के दो पदाधिकारिओं ने भी पार्टी का साथ छोड़ दिया है। तारा चंद और मोहमद रियाज़ उपाध्यक्ष पद पर तैनात थे। ये दोनों ही पार्टी से पार्षदी की उम्मीदवारी ठोक रहे थे लेकिन टिकट न मिलने पर पार्टी और पद दोनों से ही स्तीफा दे दिया है। वहीँ मधुर अवस्थी भी टिकट की दौड़ में शामिल थे लेकिन टिकट न मिलने पर पार्टी कार्यलय में ही पदाधिकारियों के सामने रो पड़े।

बताते चलें कि इससे पहले सपा मीरा वर्धन को मेयर उमीदवार घोषित कर चुकी है।

Dikshant Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned