एकेटीयू स्थापना दिवस पर सीएम योगी ने कहा- जन सुविधाओं के लिए बेहतर तकनीक विकसित करें छात्र

एकेटीयू स्थापना दिवस पर सीएम योगी ने कहा- जन सुविधाओं के लिए बेहतर तकनीक विकसित करें छात्र
AKTU program : CM says new students must do research on technical issues

Anil Ankur | Publish: Jul, 26 2019 05:38:21 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

तकनीक सस्ती, सुलभ और जनोपयोगी होनी चाहिए

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्था में यदि कुशल लोग शुरू से ही मौजूद हैं, तो वह आगे बढ़ेगी और समय के साथ-साथ पुष्पित पल्लवित होगी। आज तकनीक का समय है, अब सभी लोगों को एक साथ सुविधाएं उपलब्ध कराना सम्भव हो सका है। समय के साथ-साथ तकनीक एडवांस होने लगती है। यह लोगों के जीवन में व्यापक परिवर्तन लाते हुए खुशहाली ला सकती है। उन्होंने कहा कि हमें जीवन के हर पहलू में तकनीकी का इस्तेमाल करते हुए व्यापक परिवर्तन लाना होगा।

एकेटीयू स्थापना दिवस पर कारगिल शहीद भी याद आए


मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश (एकेटीयू) के प्रथम स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि आज का दिन कई तरह से महत्वपूर्ण है। आज विश्वविद्यालय का स्थापना दिवस तो है ही। साथ ही, आज कारगिल विजय दिवस भी है। उन्होंने कारगिल के युद्ध में अपने प्राणों की आहुति देने वाले सैनिकों को नमन करते हुए कहा कि उनके बलिदान को हमें भूलना नहीं चाहिए। इस मौके पर उन्होंने कुंभ के सफल आयोजन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हमने इसे सफल बनाने में तकनीक का भरपूर उपयोग किया। बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भी यहां पहुंचे।

छात्रों से और नई तकनीक की उम्मीद जताई सीएम ने

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रयागराज कुम्भ को सफल बनाने के लिए बड़े पैमाने पर अवस्थापना सुविधाओं का विकास कम समय में किया गया और इसमें तकनीक का भरपूर प्रयोग किया गया। प्रयागराज में ट्रैफिक समस्या के समाधान के लिए इण्टीग्रेटेड ट्रैफिक कण्ट्रोल सिस्टम की स्थापना कर पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी। तकनीक का प्रयोग करते हुए कुम्भ मेले का सफल प्रबन्धन किया गया। उन्होंने कहा कि एकेटीयू जैसे संस्थानों को इन आयोजनों के परिप्रेक्ष्य में तकनीक का विकास करना चाहिए।

स्मार्ट सिटी में अपराध पर लगेगा लगाम

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराध नियंत्रण में तकनीक का प्रभावी उपयोग किया जा सकता है। स्मार्ट सिटीज़ में तकनीक का प्रयोग करते हुए ट्रैफिक मैनेजमेंट करने की आवश्यकता है। इस पर कार्य किया जाना चाहिए। उन्होंने सॉलिड और लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट में भी तकनीक के उपयोग पर बल दिया। ऐसी तकनीक की आवश्यकता है, जो वेस्ट को इनर्जी और कम्पोस्ट में परिवर्तित कर सके। स्मार्ट सिटीज़ के विकास के लिए सस्ती और टिकाऊ तकनीक की आवश्यकता है। उन्होंने 24 घण्टे शुद्ध पेयजल आपूर्ति के लिए भी तकनीक की आवश्यकता पर बल दिया।


इस अवसर पर उन्होंने एकेटीयू के पूर्व कुलपति डीएस चैहान और प्रेमव्रत का सम्मान भी किया। प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन ने कहा कि किसी भी संस्थान के लिए उसका स्थापना दिवस अत्यन्त महत्वपूर्ण होता है। इस संस्थान द्वारा सफल विद्यार्थियों को प्लेसमेंट भी कराया जाता है। विगत दो वर्षों के दौरान इस संस्थान में तकनीकी शिक्षकों की उपलब्धता की समस्या का समाधान किया गया है और अब तक 280 तकनीकी शिक्षकों की भर्ती पूरी पारदर्शिता से की जा चुकी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned