24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 131 नये मामले,पढ़िए पूरी खबर

प्रदेश में 2182 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 630 लोग होम आइसोलेशन में

By: Ritesh Singh

Published: 25 Feb 2021, 07:33 PM IST

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,40,882 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 3,09,30,489 सैम्पल की जांच की गयी है। उत्तर प्रदेश देश में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्टिंग करने वाला प्रदेश है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 131 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 2182 कोरोना के एक्टिव मामलों में से 630 लोग होम आइसोलेशन में हैं।
प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 5465 लोगों ने तथा अब तक कुल 5,55,085 लोगो ने चिकित्सीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 170 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त जनपद में एल-2 एवं एल-3 स्तर के सरकारी अस्पतालों में मरीज अपना ईलाज करा रहे है। प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 135 तथा अब तक कुल 5,92,327 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,85,576 क्षेत्रों में 5,11,796 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,77,879 घरों के 15,28,52,752 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

उन्होंने ने बताया कि आज 25 फरवरी, 2021 को स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की द्वितीय डोज दी जा रही है। इसके अतिरिक्त छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंट लाइन कर्मियों को आखिरी अवसर प्रदान करते हुए वैक्सीन की प्रथम डोज भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि जो कर्मी टीकाकरण से छूट गये है, वे पास के टीकाकरण केन्द्र में सम्पर्क कर सकते है। केन्द्र में पंजीकरण संख्या से जानकारी मिल जायेगी। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंट लाइन कर्मियों के बाद अगले चरण में 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाने का कार्य किया जायेगा। 45 से 60 वर्ष के जिन लोगों को-माॅबिडिटी है उनका भी टीकाकरण शीघ्र किया जायेगा।

उन्होंने ने बताया कि 10 से 24 फरवरी, 2021 तक प्रदेश में फोकस सैम्पलिंग का अभियान फिर से चलाया गया, जिसके अन्तर्गत रेस्टोरेंट में काम करने वाले लोगों, फल सब्जी विक्रेता, टैम्पों थ्री व्हीलर/रिक्शा, सरकारी एवं निजी बस चालकों का, स्वीट शाॅप और नारी निकेतन, वृद्धाश्रम आदि, जेलों में, सरकारी व निजी कार्यालय में तथा मलिन बस्तियों में रहने वालों की जांच की गयी। फोकस टेस्टिंग अभियान के अन्तर्गत 10 से 20 फरवरी, 2021 तक के आंकड़े के अनुसार 03 लाख से अधिक सैम्पलों का कोविड-19 टेस्ट किये गये थे, जिसमें केवल 300 सैम्पल पाॅजिटिव पाये गये। उन्होंने बताया कि ‘मेरा कोविड केन्द्र’ ऐप के माध्यम से 05 किलोमीटर के दायरे में स्थित कोविड-19 जांच केन्द्र की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

उन्होंने बताया कि कुछ राज्यों में कोविड संक्रमण के केस फिर से बढ रहे है इसलिए अत्यधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें। उन्होंने कहा कि कोई समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन नं0 18001805145 पर सम्पर्क कर सकते है। उन्होंने कहा है कि कोरोना की जांच और इलाज की निशुल्क सरकारी व्यवस्था है।

COVID-19
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned