scriptAmbedkar Jayanti If you implement 10 things Babasaheb success sure | Ambedkar Jayanti 2022 : बाबा साहेब की 10 बातें करेंगे अमल तो सफलता मिलना तय | Patrika News

Ambedkar Jayanti 2022 : बाबा साहेब की 10 बातें करेंगे अमल तो सफलता मिलना तय

Ambedkar Jayanti 2022 आज 14 अप्रैल को यूपी सहित पूरे देश में डॉ भीम राव अम्बेडकर की जयंती मनाई जा रही है। इस बार डॉ भीम राव अम्बेडकर 131वां जयंती है। अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 में मध्य प्रदेश के महू में हुआ था।

लखनऊ

Published: April 14, 2022 08:02:29 am

आज 14 अप्रैल को यूपी सहित पूरे देश में डॉ भीम राव अम्बेडकर की जयंती मनाई जा रही है। इस बार डॉ भीम राव अम्बेडकर 131वां जयंती है। अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 में मध्य प्रदेश के महू में हुआ था। महू को अब डॉ. अम्बेडकर नगर के नाम से जाना जाता है। उत्तर प्रदेश में अम्बेडकर जयंती पर कई कार्यक्रम किए जा रहे हैं। अम्बेडकर की मृत्यु 6 दिसंबर 1956 को हुई थी। अम्‍बेडकर के अविश्‍वसनीय काम के लिए उन्‍हें साल 1990 में देश के सर्वोच्‍च पुरस्‍कार भारत रत्‍न से सम्‍मानित किया गया।
 Ambedkar Jayanti 2022 : बाबा साहेब की 10 बातें करेंगे अमल तो सफलता मिलना तय
Ambedkar Jayanti 2022 : बाबा साहेब की 10 बातें करेंगे अमल तो सफलता मिलना तय
अंबेडकर देश के पहले अर्थशास्त्री

डॉ भीम राव अम्बेडकर भारतीय संविधान निर्माता के साथ ही दलितों के मसीहा के तौर पर याद किए जाते हैं। डॉ अंबेडकर ने अपने करियर की शुरुआत एक अर्थशास्त्री के तौर पर की थी। डॉ अंबेडकर वर्ष 1915 में अमेरिका की प्रतिष्ठित कोलंबिया यूनिवर्सिटी से इकॉनमिक्स में एमए की डिग्री और वर्ष 1917 में अर्थशास्त्र में पीएचडी हासिल करने वाले देश के पहले अर्थशास्त्री थे।
यह भी पढ़ें

रिजर्व बैंक की नई सुविधा, बिना कार्ड एटीएम से निकलें पैसा, जानें तरीका और फायदे

अम्‍बेडकर ने सुधारा दलित और महिलाओं का जीवन

बीआर अम्‍बेडकर अपने जीवन में दलित और महिलाओं के अध‍िकारों के लिए काम करते रहे। अम्‍बेडकर जयंती मौके पर उनकी कही ऐसी 10 बातें जिन पर चलकर आपका जीवन बदल सकता है। और जिन्हें मानने पर आप सफलता की सीढ़ियां चढ़ेंगे।
यह भी पढ़ें

नया नियम, वाहनों का फिटनेस परीक्षण अब एटीएस से अनिवार्य, जानें एटीएस क्या है कब से होगा लागू

जानें डॉ. बीआर अम्‍बेडकर की दस अहम बातें

1. सम्मानजनक जीवन जीने में विश्‍वास करते हैं, तो अपनी मदद खुद करनी होगी।
2. मुझे वह धर्म पसंद है जो स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व सिखाता है।
3. एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्ठित व्यक्ति से इस मायने में भिन्‍न होता है वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार होता है।
4. जीवन लंबा नहीं, बड़ा होना चा‍ह‍िए।
5. जो इतिहास याद नहीं रखते, वह कभी इतिहास बना नहीं सकते।
6. शिक्षित बनो, संगठित रहो और उत्तेजित रहो।
7. धर्म इंसानों के लिए बना, इंसान धर्म के लिए नहीं बने।
8. कड़वी चीज को मीठा नहीं बनाया जा सकता। किसी भी चीज का स्वाद बदला जा सकता है। लेकिन जहर को अमृत में नहीं बदला जा सकता।
9. मन की खेती मानव अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।
10. समानता एक कल्पना हो सकती है लेकिन फिर भी इसे एक शासी सिद्धांत के रूप में स्वीकार करना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंगमहाराष्ट्र के पालघर में 25 फीट गहरी खाई में गिरी बस, कई लोग हुए घायल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.