Aanganwadi और Asha Bahu के लिये खुशखबरी, बढ़ाया गया मानदेय

Aanganwadi और Asha Bahu के लिये खुशखबरी, बढ़ाया गया मानदेय

Akansha Singh | Publish: Sep, 12 2018 09:09:58 AM (IST) | Updated: Sep, 12 2018 01:11:03 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

केंद्र सरकार ने Asha Bahu एवं Aanganwadi Karyakarta की प्रोत्साहन राशि बढ़ाने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी एप के जरिये आशा एवं आंगनबाड़ी कर्मियों से बात करते हुए यह जानकारी दी। बढ़ा हुआ मानदेय 1 अक्टूबर 2018 से लागू हो जाएगा।

लखनऊ. आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए केंद्र सरकार खुशखबरी लेकर आई है। केंद्र सरकार ने आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की प्रोत्साहन राशि बढ़ाने का फैसला किया है। आशा कर्मियों की प्रोत्साहन राशि बढ़ाकर दोगुनी तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय डेढ़ गुना यानी 3000 से बढ़ाकर ₹4500 करने का फैसला किया है। PM Narendra Modi ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी एप के जरिये आशा एवं आंगनबाड़ी कर्मियों से बात करते हुए यह जानकारी दी। बढ़ा हुआ मानदेय 1 अक्टूबर 2018 से लागू हो जाएगा। यह बढ़ी हुई राशि केंद्र के हिस्से की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन aanganwadi Karyakarta का मानदेय ₹2250 था उन्हें ₹3500 मिलेगा। आंगनबाडी सहायिकाओं की जगह ₹1500 की जगह 2250 रुपये मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि asha bahu की प्रोत्साहन राशि को दोगुना करने के अलावा यह भी फैसला किया है कि उन्हें प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना मुफ्त दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इसका मतलब क्या हुआ कि दो दो लाख रुपये कि इन दोनो बीमा योजनाओं के तहत देना होगा कोई प्रीमियम नहीं देना होगा और यह खर्च सरकार उठाएगी।

आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अपने लाखों हाथ के रूप में रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कहा कि सरकार का ध्यान पोषण, गुणवत्तापूर्ण सुविधा स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने पर है, टीकाकरण की प्रक्रिया तेजी से चल रही है जिससे महिलाओं बच्चों को खासी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा पोषण का सीधा संबंध स्वास्थ से होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार ने झुंझनू से राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की थी। यह हमारे लिए बहुत बड़ा मिशन है। इसमें आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का मुद्दा पोषण अभियान पर रखा गया था, जो गर्भवती महिलाएं व बच्चों पर था। पोषण अभियान के तहत कई जिलों में स्मार्टफोन भी सरकार द्वारा मुहैया कराए गए हैं। पेपरलेस बनाने का भी काम चल रहा है डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइंस के तहत 11,000 जो रजिस्टर दिए जाते थे, अब वह सारे स्मार्टफोन में आ जाएंगे सारी वर्कर्स है वह स्मार्ट फोन पर अपना कार्य करेंगी। पोषण अभियान के तहत देश की महिलाओं संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज देश की कुपोषित महिलाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। देश की आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर व एएनएम वर्कर देश में महिलाओं को कुपोषित होने से बचा रही हैं।

Ad Block is Banned