मोदी सरकार के खिलाफ सत्याग्रह से पहले लखनऊ आएंगे अन्ना, ये है कार्यक्रम

मोदी सरकार के खिलाफ सत्याग्रह से पहले लखनऊ आएंगे अन्ना, ये है कार्यक्रम

Prashant Srivastava | Publish: Feb, 15 2018 08:25:35 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

समाजसेवी अन्ना हजारे लोकपाल, किसान समस्या और चुनाव सुधार के लिए दिल्ली में 23 मार्च से सत्याग्रह करेंगे ।

लखनऊ. समाजसेवी अन्ना हजारे लोकपाल, किसान समस्या और चुनाव सुधार के लिए दिल्ली में 23 मार्च से सत्याग्रह करेंगे। वह 25 फरवरी को 3 दिन के लिए लखनऊ आयेंगे। इस दौरान वह कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। सत्याग्रह के जन जागरण के मकसद से पूरे देश में कार्यकर्ताओं और जनता से मिलकर इन विषयों को बता रहे हैं इसी के तहत रविवार 25 फरवरी को राजधानी लखनऊ में आयेंगे।सामाजिक कार्यकर्ता व अन्ना के सहयोगी प्रताप चन्द्रा नें बताया कि जननायक अन्ना हजारे जी दो दिन 25 और 26 फरवरी को लखनऊ के कार्यकर्ताओं के साथ सभा करेंगे और 27 फरवरी को लखनऊ से सीतापुर जायेंगे जहाँ सीतापुर के आसपास से आये कार्यकर्ताओं की सभा करेंगे।

प्रताप चन्द्रा नें बताया कि अन्ना हजारे 25 फरवरी को सदरौना स्थित मान्यवर कांशीराम शहरी गरीब आवास में कार्यकर्ता सभा करेंगे जिससे दिल्ली में होने वाले 23 मार्च से सत्याग्रह को और प्रभावी किया जा सके । अन्ना हजारे जी 26 फरवरी को लोकतंत्र की पाठशाला में छात्रों के साथ अपने अनुभव साझा करेंगे और छात्रों को लोकतान्त्रिक मूल्यों, संवैधानिक अधिकारों और कर्तव्यों के बारे में बताएँगे जिससे युवा सशक्त बन सके तथा समाज समृद्ध और भारत विकसित देश बन सके ।

पिछले दिनों शेखर दीक्षित ने उठाए थे सवाल

राष्ट्रीय किसान मंच के अध्यक्ष शेखर दीक्षित ने अन्ना हजारे पर मोदी सरकार के साथ साथ-गांठ के गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने ओपेन लेटर लिख कर कहा है कि अन्ना अगर मोदी सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई नहीं लड़े तो उनके खिलाफ वह खुद अनशन करेंगे। शेखर दीक्षित ने सवाल उठाया है कि आखिर अन्ना हजारे पिछले साढ़े तीन साल से क्यों चुप बैठे हुए हैं।

पत्र के माध्यम से उन्होंने कहा है कि आज किसान सर्वाधिक दुखी है। कृषि संकट में है। युवा बेरोज़गार घूम रहा है। सीमा पर रोज़ सैनिक शहीद हो रहे हैं। किसान रोज़ आत्महत्या कर रहे हैं।नोटबंदी व जीएसटी के दुष्प्रभाव से व्यापार -व्यवसाय चौपट है। इसके बावजूद भी अन्ना हजारे 4 साल से मोदी सरकार के खिलाफ चुप है।

Ad Block is Banned