शस्त्र लाइसेंस के लिए लखनऊ से आ रही सिफारशें, अधिकारी हो रहे परेशान

शस्त्र लाइसेंस के लिए लखनऊ से आ रही सिफारशें, अधिकारी हो रहे परेशान

Neeraj Patel | Publish: Nov, 21 2018 01:16:33 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

शस्त्र लाइसेंस के लिए लखनऊ से थाने व तहसीलों में अधिकारियों के आ रही सिफरशें जिससे वह परेशान दिखाई दे रहे हैं।

 

लखनऊ. योगी सरकार के आर्म्स लाइसेंस पर लगी रोक हटाने के बाद यूपी के सभी युवाओं में एक नया जोश दिखाई दे रहा है क्योंकि यूपी के सभी के मुख्यालयों पर आर्म्स लाइसेंस बनवाने के लिए सबसे ज्यादा युवाओं की भीड़ नजर आ रही है। लोगों का कहना है कि योगी सरकार आर्म्स लाइसेंस पर लगी रोक तो हटा दी लेकिन अब लोगों को आवेदन फॉर्म पर रिपोर्ट लगवाने के लिए थाने व तहसीलों में अधिकारियों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।

आर्म्स लाइसेंस के लिए ऐसे करें आवेदन

अगर आप आर्म्स लाइसेंस बनवाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने जिले के मुख्यालय से आवेदन फॉर्म लेना होगा। उसके बाद आपको आवेदन पूरा भरकर उसके साथ कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने होंगे। इसके बाद अपने निजी थाने और तहसील में जाकर अधिकारियों की रिपोर्ट लगवानी होगी। रिपोर्ट लगवाने के बाद आपको आवेदन फिर से मुख्यालय में जाकर जमा करना होगा।

बताया जा रहा है कि यूपी के कुछ जिलों से लोगों ने लखनऊ तक के नेताओं से सिफारिश करवाना शुरू कर दिया हैं। वहीं दूसरी ओर थाने व तहसीलों में अधिकारियों के पास सिफारिश की कॉल भी आनी शुरू हो गई है जिससे वह काफी परेशान हो रहे हैं। इस स्थिति में थाने व तहसीलों के अधिकारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं।

लगभग 2000 से अधिक आवेदन जमा

शस्त्र विभाग के असलहा बाबू अरविंद कुमार का कहना है कि नए शस्त्र लाइसेंस की प्रक्रिया एक अक्टूबर से शुरू कर दी गई थी। रिपोर्ट के अनुसार बताया जा रहा है कि अब तक लगभग 2000 से अधिक आवेदन जमा किए जे चुके हैं। आवेदन जमा करने वालों की भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है जोकि कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं।

नेताओं से करवा रहे सिफारिशें

यूपी के जिलों से आई रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि आवेदकों द्वारा शस्त्र लाइसेंस के लिए किए गए आवेदनों पर रिपोर्ट लगाई जानी है। जिसको लेकर लोगों की अब थाने व तहसील में भीड़ देखाई दे रही है। यहां रिपोर्ट लगवाने के लिए एसडीएम, थाने के एसएचओ, चौकी इंचार्ज, लेखपाल के पास लोग नेताओं से सिफारिशें कराने लगे हुए हैं ताकि रिपोर्ट जल्दी लग जाए।

अपराध पीड़ित, व्यापारी, उद्यमी समेत जरूरतमंदों को दिए जाते हैं आर्म्स लाइसेंस

बता दें कि आमतौर पर जरूरतमंद लोगों के ही आर्म्स लाइसेंस जारी किए जाते हैं इसके साथ ही अपराध पीड़ित, व्यापारी, उद्यमी समेत जरूरतमंद लोगों को ही शस्त्र लाइसेंस में प्राथमिकता दी जाती है। लेकिन शस्त्र लाइसेंस का शौक रखने वाले लोग भी इसके लिए लखनऊ तक के नेताओं से सिफारिशें करवा रहे हैं, जिससे अधिकारियों को खाफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned