अवध बार एसोसिएशन का धरना प्रदर्शन जारी

राकेश चौधरी ने अपने उद्बोधन में इस बात पर विशेष बल दिया कि अब इस लड़ाई को जनमानस तक पहुँचाने की आवश्यकता है।

By: Abhishek Gupta

Published: 05 Mar 2021, 09:40 PM IST

लखनऊ. अवध बार एसोसिएशन के तत्वावधान में धरना एवं प्रदर्शन ज़ोर पकड़ता जा रहा है। शुक्रवार को भी कई वक्ताओं ने प्रदर्शन स्थल पर पहुँच कर अपने विचार रखें जिसमें मुख्य रूप से बार एसोसिएशन के कार्यकारिणी के अध्यक्ष महासचिव के अतिरिक्त बार के वरिष्ठ सदस्य राकेश चौधरी भी शामिल रहे है। राकेश चौधरी ने अपने उद्बोधन में इस बात पर विशेष बल दिया कि अब इस लड़ाई को जनमानस तक पहुँचाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई अधिवक्ताओं की नहीं है बल्कि सर्व समाज की है क्योंकि सरकार की अवधारणा के क्रम में जो सस्ता एवं सुलभ न्याय की बात कही जाती है, उसी के अनुरूप यदि लखनऊ में एजुकेशन, जीएसटी और कंपनी लॉ ट्रिब्युनल बनाया जाता है और लखनऊ उच्च न्यायालय का क्षेत्राधिकार बढ़ाकर उसमें आधा प्रदेश शामिल कर दिया जाता है, तो निश्चित रूप से वादकारियों के लिए और उनके हित में एक बहुत बड़ा क़दम होगा। सस्ता एवं सुलभ न्याय की अवधारणा सत्य होती दिखाई पड़ेगी।

गौरतलब है कि बार असोसिएशन लखनऊ ने उच्च न्यायालय लखनऊ में एक याचिका दायर की है जिसकी सुनवाई कल हुई थी और माननीय न्यायालय द्वारा उसकी अगली सुनवाई कल के लिए निर्धारित की गई है और माननीय न्यायालय ने भारत सरकार के एडिशनल सॉलिसिटर जनरल से जवाब माँगा है।

उच्च न्यायालय लखनऊ के अधिवक्ताओं ने आज मोटर साइकिल और कार रैली भी निकाली जो कि उच्च न्यायालय के गेट नंबर 6 से प्रारंभ होकर वाहन रैली 1090 पर समाप्त हुई , जिसमें बहुत बड़ी संख्या में अधिवक्ताओं ने भाग लिया।इस रैली में अवध बार एसोसिएशन के सदस्यों के अतिरिक्त लखनऊ के अन्य तमाम बार एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया । इसी बीच मुख्य न्यायाधीश की बेंच ने इलाहाबाद स्थित उच्च न्यायालय में बैठकर एजुकेशन ट्रबल के विषय में एक आदेश पारित किया जिसमें कहा गया कि न्यायालय के अग्रिम आदेशों तक एजुकेशन ट्रिब्युनल की स्थापना न की जाए। जहाँ तक GST ट्रिब्युनल का विषय है कि उक्त मुक़दमे की सुनवाई कल लखनऊ स्थित माननीय उच्च न्यायालय में पून: होगी, अधिवक्ताओं का कार्य से विरत रहने का भी प्रस्ताव कल के लिए भी पारित किया गया है इसलिए कल भी लखनऊ स्थित समस्त न्यायालय के अधिवक्ता कार से विरत रहेंगे और उच्च न्यायालय स्थित गेट नंबर छह पर धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित चलता रहेगा।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned