Babri Masjid Demolition Case: बाबरी मस्जिद विध्वंस फैसले पर टिकी है 3 भाजपा सांसदों की लोकसभा सदस्यता

  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस के आरोपियों में शामिल हैं उत्तर प्रदेश के तीन सांसद।
  • सांसद साक्षी महाराज, लल्लू सिंह और ब्रज भूषण शरण सिंह हैं आरोपियों में शामिल।
  • 28 साल बाद सीबीआई की विशेष अदालत सुनाने जा रही है बाबरी विध्वंस केस का फैसला।

लखनऊ. बाबरी मस्जदि विध्वंस केस का फैसला कुछ ही देर में सुनाया जाएगा। कोर्ट ने सभी आरोपियों को अदालत में फैसले के वक्त हाजिर रहने को कहा है। इस केस में लाल कृष्ण आडवानी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह समेत 32 आरोपी हैं। सीबीआई की विशेष अदालत 28 साल बाद केस का फैसला सुनाने जा रही है। तीन आरोपी ऐसे हैं जिनकी संसद सदस्यता इस फैसले पर टिकी है। अगर अदालत उन्हें सजा सुनाती है तो उनकी लोकसभा की सदस्यता चली जाएगी। ये आरोपी हैं उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज, फैजाबाद के सांसद लल्लू सिंह व कैसरगंज से सांसद ब्रज भूषण शरण सिंह।

 

28 साल पहले 1991 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद को ढहाए जाने के केस सुप्रीम कोर्ट ने 2017 में दो साल में मुकदमे का निपटारा कर फैसला सुनाने का आदेश दिया था, पर इसके बाद तीन बार समय सीमा बढ़ाई गई। 30 सितंबर फैसला सुनाने की आखिरी डेडलाइन थी। सीबीआई की विशेष अदालत ने 30 अगस्त को ही केस की सुनवाई पूरी कर ली। और फैसला लिखा जाने लगा। कोर्ट ने 30 सितंबर को फैसला सुनाने का ऐलान करते हुए इस केस के सभी आरोपियों को फैसले के वक्त कोर्ट में मौजूद रहने का आदेश दिया।

 

इस केस में कुल 49 आरोपी थे जिनमें से बाल ठाकरे, आचार्य गिरिराज किशोर, विष्णु हरि डालमिया और विजयराजे सिंधिया जैसे प्रमुख आरोपी समेत 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है। फिलहाल लालकृष्ण आडवानी, मुरली मनोहर जोशी व कल्याण सिंह समेत सभी 32 आरोपियों को कोर्ट में मौजूद रहने को कहा गया है। माना जा रहा है कि कोरोना के चलते कुछ अभियुक्तों के हाजिर रहने की संभावना कम है। 28 साल चली सुनवाई के दौरान सीबीआई की ओर से 351 गवाह और करीब 600 से अधिक दस्तावेजी सबूत पेश किये गए। सीबीआई और अभियुक्तों के वकीलों की तरफ से तकरीबन 800 पन्नों की लिखित बहस दाखिल की गई।

 

ये हैं आरोपी

लालकृष्ण अडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, विनय कटियार, महंत नृत्य गोपाल दास, उमा भारती, महंत धर्मदास, डॉ. रामविलास वेदांती, चंपत राय, सतीश प्रधान, पवन कुमार पांडे, लल्लू सिंह, प्रकाश शर्मा, विजय बहादुर सिंह, संतोष दुबे, गांधी यादव, रामजी गुप्ता, ब्रज भूषण शरण सिंह, कमलेशत्रिपाठी, रामचंद्र खत्री, जय भगवान गोयल, ओम प्रकाशपांडे, अमर नाथ गोयल, जयभान सिंह पवैया, महाराज स्वामी साक्षी, विनय कुमार राय, नवीन शुक्ला, आरएन श्रीवास्तव, आयार्च धर्मेंद्र देव, सीधर कुमार कक्कड़ और धर्मेंद्र सिंह गुर्जर

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned