धीरे-धीरे टूट रहा मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद का आपराधिक किला

- मुख्तार के 22 गुर्गों पर लगा गुंडा एक्ट, 12 हुए जिलाबदर
- अतीक के भी कई शार्प शूटर और गुर्गे शिकंजे में, करोड़ों की संपत्तियां जब्त

By: Hariom Dwivedi

Published: 26 Aug 2020, 01:50 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. यूपी पुलिस संगठित अपराध और अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने में जुटी हुई है। प्रमुख निशाने पर यूपी के दो बाहुबली नेता हैं। मऊ सदर से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और प्रयागराज के बाहुबली नेता और पूर्व विधायक अतीक अहमद के गैंग पर भी कानूनी शिकंजा हर रोज कसता जा रहा है। दोनों नेताओं के की गैंग के प्रमुख गुर्गे गिरफ्तार किए जा रहे हैं। उनकी संपत्तियां जब्त की जा रही हैं। गुंडा एक्ट की कार्रवाई हो रही है। दर्जनों को जिलाबदर किया जा चुका है। इससे इन दोनों बाहुबलियों का काला साम्राज्य ढहने को है। अब दोनों बाहुबलियों के कब्जे से करोड़ों की अवैध संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं। ताबड़तोड़ कार्रवाई से हड़कंप मचा है।

मंगलवार को मऊ पुलिस ने मुख्तार अंसारी गैंग के 22 सदस्यों पर गुंडा एक्ट की कार्रवाई की, जबकि मुख्तार के 12 गुर्गों को जिलाबदर कर दिया गया। इन्ही अपराधियों में 26 का शस्त्र लाइसेंस निलंबित कर दिया गया । मऊ पुलिस के मुताबिक मुख्तार अंसारी गैंग के 10 अन्य सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। मऊ पुलिस अधीक्षक मनोज सोनकर ने बताया कि जिले में संगठित अपराध रोकने के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है, जिमसें मुख्तार अंसारी गैंग और उनके सहयोगियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है।

मुख्तार अंसारी गैंग के 12 सदस्य जिला बदर
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मुख्तार अंसारी गिरोह के अल्तमश सभासद, अनीस, मोहर सिंह, जुल्फेकार कुरैशी, तारिक, मोहम्मद सलमान, आमिर हमजा, मोहम्मद तलहा, जावेद आरजू, मोहम्मद हाशिम, राशिद और अनुज कन्नौजिया को छह माह के लिए जिला बदर कर दिया गया है। अनुज कन्नौजिया मुख्तार गैंग का शार्प शूटर है। उसके विरुद्ध विभिन्न थानों में गंभीर धाराओं में 19 अभियोग पंजीकृत हैं।

अतीक अहमद गैंग के 8 गुर्गे गिरफ्तार
भूमाफिया, बाहुबली और वांछित अपराधियों पर शिकंजा कसने के क्रम में अतीक अहमद गैंग के 8 गुर्गे गिरफ्तार किए गए हैं। प्रयागराज पुलिस ने सिविल लाइन्स इलाके से अतीक अहमद के खास और करीबी मल्ली समेत 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एडीजी प्रेम प्रकाश के मुताबिक पकड़े गए अपराधी अतीक के ज़मीन के कारोबार और कई पुरानी वारदातों से जुड़े हएु हैं। अतीक गैंग के गुर्गों ने कई अवैध कब्जे भी किये हैं। एडीजी ने अतीक के गुर्गों की तलाश में पुलिस की एक स्पेशल टीम भी बनाई है। हिरासत में लिया गया मल्ली पहले भी हत्या के आरोप में जेल जा चुका है, जिसमें मल्ली जमानत पर जेल से बाहर था। प्रयागराज के अलग-अलग थानों में मल्ली के ऊपर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह अतीक अहमद का खास शूटर है। बसपा विधायक राजू पाल की हत्या का भी मल्ली पर आरोप है और एक सैन्य अधिकारी की पत्नी के हत्या मामले में मल्ली को जेल भी भेजा गया था। बाद में वह जमानत पर जेल से बाहर था

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned