घर पर अकेली थी बीडीएस छात्रा, जब फूफा देखने पहुंचे घर तो नजारा देखकर उड़ गए होश

घर पर अकेली थी बीडीएस छात्रा, जब फूफा देखने पहुंचे घर तो नजारा देखकर उड़ गए होश

Neeraj Patel | Updated: 12 Jun 2019, 08:41:08 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बीडीएस की छात्रा का बंद कमरे में शव मिलने से मचा हड़कम्प

पुलिस ने डॉग स्क्वायड व फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट बुलाकर तहकीकात शुरू की

बीडीएस छात्रा मोहल्ला विजयनगर निलमथा की निवासी है

लखनऊ. कैंट क्षेत्र में बीडीएस की छात्रा का बंद कमरे में शव मिलने से हड़कम्प मच गया। बीडीएस छात्रा का शव पंखे से दुपट्टे से लटका हुआ मिला। बताया जा रहा हैं कि जब छात्रा के फूफा उसका हाल लेने के लिए उसके कमरे पर पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर वह एकदम सन्न रह गए। उसके बाद उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम रिपोर्ट के लिए भेजा। अब वह मौत की वजह जानने के लिए पोस्टमार्टम का इंतजार कर रही है।

जब पुलिस ने डॉग स्क्वायड व फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट बुलाकर तहकीकात शुरू की और मोबाइल फोन के कॉल डिटेल मंगाए। जिसके आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। क्षेत्राधिकारी कैंट तनु उपाध्याय ने बताया कि यह बीडीएस छात्रा मोहल्ला विजयनगर निलमथा की निवासी है। उसकी उम्र 25 वर्ष है।

फूफा के देखते ही उड़ गए होश

छात्रा के फूफा सेवानिवृत्त सूबेदार संजय सिंह हैं। जब उसे जगाने के इरादे से फोन किया और जब फोन नहीं उठा तो वह उसके घर पहुंचे। तो घर का मेन गेट खुला हुआ था। जब फूफा उसके कमरे में गए। तो तो तख्त पर प्रिया का शव पड़ा था। छत के पंखे से दुपट्टे का फंदा कसा नजर आया। इस पर संजय ने पुलिस को फोन किया और शोर मचाकर आसपास के लोगों को जानकारी दी। प्रभारी निरीक्षक रंजना सचान व उपनिरीक्षक धर्मचंद्र मौर्या मौके पर पहुंचे।

जब युवक ने नाबालिग के साथ किया यह काम तो लड़की ने उठाया ये बड़ा कदम, देखने वालों के उड़ गए होश

प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि कमरे में पांच मोबाइल फोन मिले। इनमें दो फोन प्रिया के और एक फोन उसकी मां रेनू का था, जबकि दो अन्य मोबाइल फोन की पहचान नहीं हो सकी। एक मोबाइल फोन कूंचा गया था। प्रिया के मोबाइल से कॉल डिटेल व डॉटा डिलीट किया गया था। घर का सामान व्यवस्थित नजर आया। प्रकाश सिंह से फोन पर बातचीत की। उन्होंने किसी रंजिश से इनकार करते हुए बताया कि इकलौती बेटी प्रिया का अच्छी तरह ख्याल रखते थे।

17 जून से शुरू होनी थी प्रयोगात्मक परीक्षा

बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा की मौत की खबर पर बिहार के गोपालगंज में शादी समारोह में गए उसके माता-पिता देर शाम विजयनगर निलमथा स्थित घर पहुंचे। पिता प्रकाश सिंह ने क्षेत्राधिकारी कैंट तनु उपाध्याय और प्रभारी निरीक्षक रंजना सचान को बताया कि प्रिया ने सोमवार देर शाम फोन करके बताया था कि 17 जून से प्रयोगात्मक परीक्षा शुरू होंगी।

झाड़ूपोछा करने वाली को हिरासत में लिया

प्रकाश सिंह ने कहा कि मोहल्ले में रहने वाली राधा उनके घर पर झाड़ूपोछा करती थी। उसकी आदतें ठीक न होने की वजह से बिहार जाने से पहले काम करने से मना कर दिया था। माता-पिता को किसी रंजिश से इनकार करते देख पुलिस ने राधा को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। प्रकाश सिंह ने बताया कि उनके दो भाइयों में एक के बेटा-बेटी है और दूसरे भाई के कोई संतान नहीं है। वह इकलौती बेटी प्रिया की हर इच्छा पूरी करते थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned