व्यवस्था परिवर्तन को लेकर शुरू होगा आंदोलन

वोटर्स पार्टी के नीति निर्देशक भरत गांधी ने व्यवस्था परिवर्तन को लेकर देशव्यापी आंदोलन शुरू करने की बात कही।

By:

Published: 22 Aug 2017, 08:24 PM IST

लखनऊ. सत्ता परिवर्तन से ज्यादा जरूरत व्यवस्था परिवर्तन की है। यह कहना था वोटर्स पार्टी के नीति निर्देशक भरत गांधी का जिन्होंने व्यवस्था परिवर्तन को लेकर देशव्यापी आंदोलन शुरू करने की बात कही। मंगलवार को गांधी भवन में आयोजित लोकतंत्र सेनानियों गोष्ठी के उन्होंने अपने नेतृत्व में लोकतंत्र सेनानियों ने भरत गांधी के साथ मिलकर राजनीति सुधारो अभियान में सक्रिय भूमिका निभाने का फैसला किया।

भरत गांधी लोकतंत्र सेनानियों को राजनीति सुधार के सूत्रों पर व्याख्यान देने लखनऊ आये थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जाने-माने संविधान विशेषज्ञ व लोकसभा के पूर्व महासचिव डॉ. सुभाष कश्यप ने की। उद्घाटन संबोधन में लोकतंत्र सेनानी कल्याण परिषद के राष्ट्रीय महासचिव चतुर्भुज त्रिपाठी ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के आंदोलन को दबाने के लिये 1 जुलाई, 2017 के शाननादेश से जिलाधिकारियों को किसी के ऊपर भी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून, रासुका लगाकर जेल भेजने का अधिकार दे दिया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात आपातकाल से भी बुरे हैं।

इस गोष्ठी में अध्यक्षीय संबोधन करते हुये जाने-माने संविधान विशेषज्ञ व लोकसभा के पूर्व महासचिव डॉ. सुभाष कश्यप ने कहा कि चुनाव सुधार के बिना इस देश में किसी सुधार की कल्पना नही की जा सकती। उन्होंने कहा कि ऐसे कानून बनाया जाना आवश्यक है जिससे किसी भी चुनाव में आधे से ज्यादा वोट पाना अनिवार्य हो जाए।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रख्यात राजनीतिक विचारक भरत गांधी ने लोकतंत्र सेनानियों को राजनीति सुधार के 25 सूत्रों से परिचित कराया। उन्होंने कहा कि आधुनिकता के नाम पर पश्चिमी सोच से और संस्कृति प्रेम के नाम पर इतिहासग्रस्तता से हमें उबरना पड़ेगा।

वह बोले, अन्ना हजारे और उनकी टीम के लोग भ्रष्टाचार रोकने आये थे, लेकिन उनकी टीम भ्रष्टाचार में लिप्त हो गयी। हिन्दू राज का सपना दिखाकर मोदीजी आये। लेकिन हिन्दूवाद और राष्ट्रवाद के नाम पर देशी-विदेशी खरबपति पूरे देश को अजगर की तरह निगल रहे हैं। भाजपा के पुराने सिद्धांत और पुराने नेता, दोनों को दफन कर दिया है। लोगों में भारी असंतोष है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned