scriptBiggest Water Abhiyan sto Start in Bundelkhand's Seven Districts | बुंदेलखंड के 7 जिलों में जल देने का सबसे बड़ा अभियान, जल शक्ति मंत्री का बुंदेलखंड से वादा, पानी मिलेगा उम्मीद से ज्यादा | Patrika News

बुंदेलखंड के 7 जिलों में जल देने का सबसे बड़ा अभियान, जल शक्ति मंत्री का बुंदेलखंड से वादा, पानी मिलेगा उम्मीद से ज्यादा

बुंदेलखंड के हमीरपुर और महोबा में जल परियोजनाओं के ताबड़तोड़ निरीक्षण के बाद जल शक्ति मंत्री ने प्रमुख सचिव नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति अनुराग श्रीवास्तव व अन्य अफसरों के साथ बैठक कर योजनाओं की नियमित मॉनिटरिंग के लिए बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में कैंप करने के निर्देश दिए हैं।

लखनऊ

Published: April 17, 2022 06:14:09 pm

बुंदेलखंड पेयजल कनेक्शन के सबसे बड़े अभियान का गवाह बनने जा रहा है। बुंदेलखंड विंध्य क्षेत्र में सितंबर से पेयजल आपूर्ति का सबसे बड़ा और अनूठा अभियान शुरू होने जा रहा है। जल शक्ति मंत्री ने विभागीय अफसरों को इसकी तैयारी के निर्देश दे दिए हैं। बुंदेलखंड के हमीरपुर और महोबा में जल परियोजनाओं के ताबड़तोड़ निरीक्षण के बाद जल शक्ति मंत्री ने प्रमुख सचिव नमामि गंगे व ग्रामीण जलापूर्ति अनुराग श्रीवास्तव व अन्य अफसरों के साथ बैठक कर योजनाओं की नियमित मॉनिटरिंग के लिए बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में कैंप करने के निर्देश दिए हैं। स्‍वतंत्र देव सिंह ने नवंबर तक बुंदेलखंड में शत प्रतिशत पेयजल आपूर्ति का लक्ष्य तय कर दिया है।
Biggest Water Abhiyan sto Start in Bundelkhand's Seven Districts
Biggest Water Abhiyan sto Start in Bundelkhand's Seven Districts
बुंदेलखंड की जल परियोजनाओं में 70 फीसदी काम पूरा होने की स्थिति को देखते हुए जल शक्ति मंत्री ने कहा कि पीने के पानी के लिए वर्षों तक कठिन संघर्ष करने वाले बुंदेलखंड और विंध्य के लोगों को उम्मीद से बेहतर जलापूर्ति करने जा रहे हैं। उन्होंने बुंदेलखंड व विंध्य में भूजल आधारित 75 पेयजल योजनाओं समेत 100 दिन में 50 हजार घरों में जलापूर्ति के लक्ष्य के साथ ही प्रदेश भर में 30 लाख आबादी तक पाइप से पानी की सप्लाई हर हाल में शुरू करें। अफसरों के साथ बैठक में जल शक्ति मंत्री ने कहा कि अगले 6 महीने में 60 लाख लोगों तक स्वच्छ पेयजल आपूर्ति का लक्ष्य तय है इसमें सबसे बड़ा हिस्सा बुंदेलखंड और विंध्य के लोगों का है।
यह भी पढ़ें

इस योजना में फ्री मिलेगा एलपीजी गैस सिलेंडर, इस तरह करें आवेदन

एसी दफ्तर छोड़ बुंदेलखंड की पथरीली जमीन पर उतरेंगे अफसर !

बुंदेलखंड और विंध्य में सितंबर से जल कनेक्‍शन के बड़े अभियान को अंजाम तक पहुंचाने के लिए एसी दफ्तरों में हवा खाने वाले अफसरों को अपने आराम की कुर्बानी देनी होगी। ग्राउंड लेवल पर योजनाओं की नियमित निगरानी और कैंप करने के निर्देश के बाद विभाग के इंजीनियरों में हलचल तेज हो गई है। जल शक्ति मंत्री और प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव के सख्त रुख को देखते हुए इंजीनियर और अफसर सकते में हैं। जल शक्ति मंत्री ने कहा है कि अफसर युद्ध स्तर पर कार्य योजना बना कर बुंदेलखंड में कैंप करें और नियमित समीक्षा कर प्रगति की रिपोर्ट भेजें। किसी भी हाल में नवंबर के तय लक्ष्य को हासिल करना है।
एक-एक गांव को लक्ष्य मानकर माइक्रो लेवल पर प्लानिंग

बुंदेलखंड में सितंबर से जल कनेक्‍शन अभियान के लिए जल शक्ति मंत्री ने अफसरों को एक एक गांव को लक्ष्य मान कर माइक्रो लेवल पर प्लानिंग के निर्देश दिए हैं। ताकि घरों तक जलापूर्ति शुरू की जा सके। मोबाइल पर मैसेज के साथ ही उन्होंने गांवों में काम कर रही एनजीओ की कार्य क्षमता बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पाइप लाइन हर घर के अंदर तक ग्रामीणों की सुविधा वाले स्थान तक पहुंचाई जाए। जल मंत्री ने कहा कि पाइप में जलापूर्ति शुरू होने के बाद ही टोंटी लगाएं। नमामि गंगे योजना की जिलेवार मॉनिटरिंग कर रहे सभी एडीएम को भी जल शक्ति मंत्री ने गांव गांव जा कर तैयारियों और गुणवत्ता की नियमित जांच करने और ग्रामीणों से बातचीत कर नल कनेक्‍शन पहुंचने की पुष्टि करने के निर्देश दिए हैं।
सपा और बसपा ने बुंदेलखंड को पानी से रखा वंचित: स्वतंत्र देव

जल शक्ति‍ मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकारों ने बुंदेलखंड को पानी से हमेशा वंचित रखा। यही कारण रहा कि यहां पानी के अभाव में लोग दम तोड़ देते थे। ट्रेन से पानी मंगवाना मजबूरी बना था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने के बाद से हर घर जल योजना से बुंदेलखंड में बड़ा बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि यूपी के गांव-गांव हर घर तक 2024 तक जल पहुंचाने का काम तेजी से पूरा किया जा रहा है।
बुंदेलखंड एक नजर में:

बुन्देलखण्ड क्षेत्र में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 32 परियोजनाओं के अन्तर्गत कुल 467 पाइप पेयजल योजनाएं निर्माणाधीन हैं। जिसमें 43 सतही जल आधारित योजनाएं और 424 भूजल आधारित योजनाएं हैं । इन योजनाओं में कुल 3823 राजस्व ग्रामों के कुल 7268705 आबादी के लिए 1195265 क्रियाशील गृह जल संयोजन (FHTC) की व्यवस्था की जानी है। जिससे कुल 1195265 घरों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.