भाजपा जानबूझकर बुनकरों को परेशान कर रही : अखिलेश यादव

समाजवादी सरकार बनने पर बुनकरों पर अन्याय नहीं होने देंगे। उनको ज्यादा से ज्यादा सहूलियतें दी जाएंगी।

By: Ritesh Singh

Published: 17 Nov 2020, 07:31 PM IST

लखनऊ , समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा जानबूझकर बुनकरों को परेशान कर रही है। उसे उनकी तरक्की और खुशहाली नापसंद है। भाजपा सरकार ने समाजवादी सरकार के समय की बुनकरों की सन् 2006 की विद्युत फ्लैट रेट योजना को समाप्त कर उनकी रोजी-रोटी पर वार किया है। लोकभवन में बैठकर सरकार को कमजोर समाज के लोगों पर अन्याय नहीं करना चाहिए। समाजवादी सरकार बनने पर बुनकरों पर अन्याय नहीं होने देंगे। उनको ज्यादा से ज्यादा सहूलियतें दी जाएंगी।

अखिलेश यादव से आज पार्टी मुख्यालय में मेरठ विधायक रफीक अंसारी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश बुनकर सभा के अध्यक्ष हाजी इफ्तेखार अहमद अंसारी और मीडिया प्रभारी नसीम अंसारी के साथ आए सैकड़ों बुनकर भाइयों ने मुलाकात की और अपना ज्ञापन सौंपा। यादव ने बुनकर समाज के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोरोना संकट और लाॅकडाउन से सबसे ज्यादा आर्थिक संकट में बुनकर हैं। उन्हें बिजली की पुरानी सुविधा मिलनी चाहिए। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी सरकार में वाराणसी में 24 घंटे बिजली दी जा रही थी यद्यपि यूपी का बिजली कोटा केन्द्र ने नहीं बढ़ाया था। भाजपा राज में एक यूनिट बिजली का उत्पादन नहीं हुआ। समाजवादी सरकार में भदोही में एक्सपोमार्ट बनाया गया था, कारपेट बाजार बनाया था और भदोही तक चारलेन सड़क बनवाई थी ताकि बुनकर भाइयों को अपना उत्पाद बाहर भेजने में दिक्कत न हो।

अखिलेश यादव ने कहा कि बुनकर समाज के प्रति भाजपा सरकार भेदभाव, अन्याय और राजनीतिक उपेक्षा प्रदर्शित कर रही हैं। वह चालाकी की राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि बुनकर और समाजवादी पार्टी के रिश्ते अटूट हैं। बुनकर समाज को आज जो तकलीफें उठानी पड़ रही हैं। समाजवादी सरकार बनने पर उन्हें दूर करने में पीछे नहीं रहेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा से सभी लोग सतर्क रहें। वह चुनाव निष्पक्षता से नहीं होने देना चाहती है। वह चुनाव में धांधली को अपना हथियार बनाती हैं। इसलिए सन् 2022 के चुनावों में सावधानी से वोट डालना होगा। समाजवादी पार्टी की जीत लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए आवश्यक है।

उ0प्र0 बुनकर सभा के ज्ञापन में कहा गया है कि बुनकरों को सन् 2006 से फ्लैट रेट पर बिजली मिल रही थी। जबसे भाजपा सरकार आई बुनकर तबाही के कगार पर पहुंच गए हैं। लगातार ढ़ाई वर्ष की कोशिशों के बाद भी उन्हें न्याय नहीं मिला है। बुनकर अनिश्चित कालीन बंदी कर आंदोलन कर रहे हैं। बुनकर प्रतिनिधियों ने उम्मीद जताई कि उनकी जरूरतें समाजवादी सरकार ही पूरा करेगी। दलितों, वंचितों और समाज के कमजोर वर्गों के प्रति समाजवादी पार्टी की हमदर्दी है। भाजपा कारपोरेट घरानों के हितों की ही चिंता करती है। सन् 2022 में उत्तर प्रदेश में बुनकर एकजुट होकर समाजवादी सरकार बनाएंगे।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned