मिशन 2022 के लिए भाजपा ने उतारे 10000 ट्रेंड कार्यकर्ता, शुरू हुआ बड़ा अभियान

भाजपा की तैयारी, एक कार्यकर्ता को एक गांव की जिम्मेदारी, आगे बढ़ाएंगे 'सपा-बसपा मुक्त बूथ' अभियान.

By: Abhishek Gupta

Published: 08 Dec 2019, 06:46 PM IST

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी 2022 चुनाव से पहले संगठन को मजबूत करने में जुट गई है। रविवार से शुरू हुए ग्राम स्वराज अभियान से इसकी सतह तैयार की जा रही है। यह अभियान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि मतलब 30 जनवरी तक चलेगा, जिसके सफल होने पर प्रदेश के हर गांव की जिम्मेदारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को मिलेगी। इसकी शुरुवात रविवार को 10000 गांवों से हुई है। जिसमें प्रत्येक गांव में कम से कम एक कार्यकर्ता सक्रिय है, जो लोगों और भाजपा के बीच सेतु का काम करेगा। सरकारी योजनाओं का लोगों को लाभ मिल रहा है या नहीं, कार्यकर्ता इसकी सच्चाई परखेंगे। इस दौरान भाजपा के ‘सपा-बसपा मुक्त बूथ’ अभियान को भी आगे बढ़ाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- इटावा में इन्हें भाजपा जिलाध्यक्ष बनाए जाने के बाद पार्टी के नेता हैरत में, किसी को नहीं थी इनकी उम्मीद

अभियान को सफल बनाएं कार्यकर्ता: स्वतंत्र देव
ग्राम स्वराज अभियान को सफल बनाने का भाजपाप्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कार्यकर्ताओं को निर्देश दे दिए हैं। पहले चरण के लिए नियुक्त कार्यकर्ताओं से गांवों में सतत संपर्क व संवाद कर अभियान को सफल बनाने की अपेक्षा की है। उन्होंने कहा कि भाजपा का लक्ष्य सिर्फ सरकार बनाना नहीं, बल्कि गरीबों और दुखी लोगों के चेहरे पर हंसी लाना भी है। इसलिए हमारी कोशिश है कि पार्टी कार्यकर्ता एक-एक व्यक्ति तक पहुंचें। पार्टी ने प्रदेश भर में 90 हजार कार्यकर्ताओं के चयन की योजना बनाई है। यह कार्यकर्ता लोगों से फीडबैक लेंगे जिसके आधार पर सरकारी मशीनरी की सच्चाई परखी जाएगी। अहम बात यह है कार्यकर्ता को जिस गांव की जिम्मेदार दी जाएगी वह उसी गांव का न होकर दूसरे गांव का होगा।

ये भी पढ़ें- सीएम योगी बोले- पूर्व की सपा सरकार में योजनाओं पर परिवारवाद रहा हावी

10 हजार गांवों से हुई शुरूआत-
अभियान की शुरुआत रविवार को 10 हजार गांवों से हो गई है, जिसके लिए 10 हजार कार्यकर्ताओं को शनिवार को ही प्रशिक्षण दे दिया गया था। इन कार्यकर्ताओं ने दिए गए गांवों की जिम्मेदारी संभाल ली है। प्रत्येक सप्ताह संबंधित गांवों में जाकर इन्हें पार्टी के स्थानीय लोगों के साथ बैठक करके संगठनात्मक और सरकारी योजनाओं का फीडबैक लेना होगा। यदि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ मिलने में कठिनाई हो रही है तो उसकी मदद करेंगे।

BJP
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned