CM योगी ने दो DM को किया सस्पेंड तो बीजेपी की ओर से आया ये बयान

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन बोले, भाजपा राज में भ्रष्ट अधिकारियों की खैर नहीं

By:

Published: 07 Jun 2018, 06:31 PM IST

लखनऊ. सीएम योगी ने भ्रष्टाचार के आरोप में फतेहपुर के डीएम कुमार प्रशांत और गोंडा के डीएम जेबी सिंह को निलंबित किया। मिली जानकारी के मुताबिक, जेबी सिंह को अवैध खनन और प्रशांत को सरकारी जमीन गलत तरीके से निजी व्यक्ति को देने सहित अन्य मामले में निलंबित किया गया। इस पर बीजेपी का कहना है कि बीजेपी सरकार की मंशा को साफ कर दिया है। प्रदेश की भाजपा सरकार का भ्रष्टाचार के प्रति रवैया ‘जीरो टॉलरेंस’ का है।

बीजेपी प्रवक्ता डॉ. चन्द्रमोहन ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के इतिहास में पहली बार एक साथ दो जिलाधिकारियों को निलंबित करके यह संदेश दिया है कि भ्रष्टाचार किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कोई कितना भी बड़ा अधिकारी क्यों न हो भ्रष्टाचार पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद से पहली बार ‘एंटी करप्शन पोर्टल’ की शुरुआत की गई है। इस पोर्टल पर आने वाली शिकायतों की मॉनीटरिंग सीधे मुख्यमंत्री कर रहे हैं।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों को अपने विभागों में भ्रष्टाचार से जुड़े मसलों पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। अब भ्रष्ट अधिकारियों की खैर नहीं है। भाजपा सरकार अंत्योदय के सिद्धान्त पर काम करते हुए समाज के निचले तबके तक जनकल्याणकारी योजनाओं को पहुंचा रही है। भाजपा सरकार के इस पुनीत प्रयास में बाधा डालने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को किसी भी कीमत पर नहीं बख्शा जाएगा।

अब ये अधिकारी संभालेंगे जिम्मेदारी

बता दें कि अब फतेहपुर के नए डीएम अन्जनेय कुमार और गोंडा के डीएम प्रभांशु श्रीवास्तव होंगे। सीएम योगी की ओर से जारी बयान में कहा गया है यदि वरिष्ठ स्तर पर प्रभावी अनुश्रवण व कार्रवाई की जाती तो इस तरह की स्थिति पैदा न होती। प्रकरण में कार्रवाई की प्रभावी मिसाल स्थापित करते हुए वरिष्ठ स्तर पर जिम्मेदारी निर्धारित करने का फैसला लिया गया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned