नयी कार्यकारिणी से भाजपा पूरा करेगी मिशन 2019 का लक्ष्य

कई नेताओं के पुत्रों को मिली जगह, कई के कतरे गए पर, यह थी वजह

By: Anil Ankur

Published: 10 Feb 2018, 05:43 PM IST

अनिल के अंंकुर
लखनऊ। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय की नई टीम घोषित हो गई है। अब देखना होगा कि पांडेय की यह टीम मिशन 2019 का लक्ष्य हासिल करने के लिए कितनी लड़का साबित होगी या नहीं। फिलहाल महेन्द्र नाथ पांडेय अपनी टीम में मनमाफिक लड़ाके रखने में सफल साबित नहीं हो पाए हैं। इस बार भी भाजपा की कार्यकारिणी में पुराने चेहरे ज्यादा दिख रहे हैं।

लम्बी चौड़ी है प्रदेश भाजपा की कार्यकारिणी
वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर महेन्द्र नाथ पांडेय की इस कार्यकारिणी में 15 प्रदेश उपाध्यक्ष, संगठन महामंत्री समेत सात महामंत्री और 16 प्रदेश मंत्री बनाये गए हैं। इसके अलावा अवध क्षेत्र में तीन बार विधायक रहे सुरेश तिवारी और पश्चिम क्षेत्र में अश्विनी त्यागी क्षेत्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया है। अश्विनी इसके पहले प्रदेश उपाध्यक्ष थे। महेन्द्रनाथ पांडेय ने मोर्चा प्रदेश अध्यक्षों की भी घोषणा की है। भारतीय जनता युवा मोर्चा का दायित्व सुभाष यादव और महिला मोर्चा का दर्शना सिंह को सौंपा गया है।

कुछ नेता पुत्रों और परिवार वालों को तरजीह और कुछ से परहेज
एक व्यक्ति-एक पद के सिद्धांत पर प्रदेश और केंद्र सरकार में मंत्री बने पदाधिकारियों को हटा दिया गया है। प्रदेश उपाध्यक्ष और महामंत्री का एक-एक पद रिक्त रखा गया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे चुके संजीव बालियान को भी संगठन में जगह मिली है। केन्द्रीय गृहमंत्री के पुत्र पंकज सिंह को महामंत्री पद की जिम्मेदारी दी गई है। वाराणसी के क्षेत्रीय अध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य की उपाध्यक्ष पद पर प्रोन्नति हुई है। एक वक्त था कि भाजपा में सबसे पावरफुल नेता माने जाने वाले कल्याण सिंह के परिवार वालों को ही इस बार संगठन से दूर रखा गया है। संगठन के फेरबदल में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह के पुत्र और एटा के सांसद राजवीर सिंह को उपाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। उनके अलावा रामनरेश रावत और बाबू राम निषाद को उपाध्यक्ष पद से हटाया गया है।

सामाजिक समरसता बरसाने की कोश्शि
आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय ने अपनी कार्यकारिणी में सामाजिक और भौगोलिक समीकरण पर जोर दिया है। संगठन में पिछड़ों को मौका दिया गया है। खासकर यादव नेताओं को उभारा गया है। युवा मोर्चा का अध्यक्ष सुभाष यादव को बनाया गया है। इसी प्रकार कई अन्य जिम्मेदारियां यादव समाज को सौंपी गई हैं। वहीं कुर्मी नेताओं को इस कार्यकारिणी में ज्यादा तरजीह नहीं दी गई है। इसी प्रकार बैकवर्ड समाज के लोध नेताओं को भी कार्यकारिणी में ज्यादा तवज्जोह नहीं दी गई है।

अध्यक्ष का दावा- 2019 हमारा
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय का दावा है कि मिशन 2019 में उन्हें हर हाल कामयाबी मिलेगी। यही कारण है कि उन्होंने जातीय और सामाजिक समीकरण के हिसाब से अपनी कार्यकारिणी की घोषणा की है। वे कहते हैं कि 2019 में हमारा मिशन कामयाब होगा। यूपी सबसे ज्यादा सांसद जिताएगी।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned