BRD Medical College गोरखपुर हादसे पर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब

बीआरडी मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) बच्चों की मौत के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी सरकार से मांगा जवाब।

By: Dhirendra Singh

Published: 18 Aug 2017, 04:44 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित ऑक्सीजन की कमी से बच्चों व सहित अन्य की मौत के मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने राज्य सरकार और चिकित्सा शिक्षा निदेशालय से जवाब मांगा है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई बड़ी लापरवाही के खिलाफ एक याचिका दायर की गई थी। हाईकोर्ट ने इस मामले में सख्त रूख अपनाते हुए बच्चों की मौत का स्पष्ट कारण बताने के लिए कहा है।

एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने बीआऱडी मेडिकल कॉलेज में हुई मौतों के संबंध में जनहित याचिका दायर की थी। शुक्रवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार और चिकित्सा शिक्षा निदेशालय को 6 सप्ताह में विस्तृत जवाब देने के आदेश दिया है। यह आदेश जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस दया शंकर तिवारी की बेंच ने नूतन, राज्य सरकार के महाधिवक्ता राघवेन्द्र प्रताप सिंह तथा चिकित्सा शिक्षा निदेशालय के अधिवक्ता संजय भसीन को सुनने के बाद पारित किया।

महाधिवक्ता ने कहा कि राज्य सरकार इस मामले में सभी संभव कदम उठा रही है और मुख्य सचिव की रिपोर्ट आने के बाद शेष सभी कार्यवाही की जाएगी। इस पर नूतन ने कहा कि राज्य सरकार के अब तक के कार्यों से ऐसा सन्देश गया है कि वे कुछ छिपाना चाहते हैं और कथित आरोपियों का बचाव किया जा रहा है, ऐसे में लगता है कि मुख्य सचिव की जांच एक दिखावा ही होगी। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों द्वारा निजी प्रैक्टिस करने की समस्या को रखते हुए इन्हें भी सख्ती से रोके जाने की प्रार्थना की। अब याचिका के संबंध में 9 अक्टूबर 2017 को अगली सुनवाई होगी।

गौरतलब है कि 10 व 11 अगस्त को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने से तीस से ज्यादा बच्चों की मौत का मामला सामने आया। इसके बाद भी बच्चों की मौत का सिलसिला जारी रहा। हालांकि प्रदेश सरकार ने दावा किया कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हुई है। लेकिन हालिया मजिस्ट्रेट जांच की रिपोर्ट में कहा गया है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हुई थी। इसी वजह से बच्चों की मौत हुई। वहीं इस मामले में राज्य सरकार मेडिलक कॉलेज के प्रिंसिपल सहित कई लोगों को निलंबित कर उन पर जांच के आदेश दे चुकी है।

Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned