ब्राइटलैंड स्कूल कांड- आरोपी छात्रा ने किए कई खुलासे, कहा पीड़ित ने मुझे पहचानने से किया इंकार

इंटरव्यू में कई खुलासे करते हुए यह भी बताया है कि पीड़ित छात्र ने उसे पहचानने से इंकार कर दिया था।

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Jan 2018, 05:04 PM IST

लखनऊ. राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र के साथ हुई बर्बरता के मामले में आरोपी छात्रा ने कई खुलासे किए हैं। छात्रा ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में कई खुलासे करते हुए यह भी बताया है कि पीड़ित छात्र ने उसे पहचानने से इंकार कर दिया।

छात्रा ने बताया कि वह मंगलवार सुबह 9.30 बजे स्कूूल के लिए घर से निकली थी, एसेंबली अटेंड करने के बाद वह अपनी क्लास में गई। "मैं अपने क्लास में बाकी छात्र-छात्राओं के साथ थी, आप किसी से भी पूछ सकते हैं। क्लास में थर्ड पीरियड के दौरान कुछ टीचर्स आए और हमें अलग-अलग लाइन में खड़े होकर क्लास से बाहर आने के लिए कहा। उसके बाद टीचर ने मुझे मिलाकर चार लड़कियों को चुना, जिनके बाल छोटे और कुछ अलग स्टाइल के हैं। हमें अपने नाम बताने के लिए कहा गया साथ ही बुधवार को अपने माता-पिता के साथ आने के लिए कहा गया। उसके बाद मैं घर चली गई। करीब 4.30 बजे कुछ टीचर्स मेरे घर में आए और तहकीकात करने लगे कि जो भी किया है वो बता दो, अन्यथा हम लोग तु्म्हें बचा नहीं पाएंगे। मेरी मां ने उनसे कारण पूछा, लेकिन वे चुप रहे और चले गए", छात्र ने बताया।

कपड़े उतार कर ली तलाशी-

बुधवार को अपनी मां के साथ छात्रा स्कूल गई और जैसे ही वह वहां पहुंची उसे स्कूल की लाइब्रेरी में रिपोर्ट करने के लिए कहा गया जहां तीन टीचर्स ने उसके कपड़े उतार कर उसकी तलाशी ली। "उन्होंने कहा कि तुम्हारे पिता से इस चीज के लिए इजाजत ले ली गई है, जिसपर मैनें विश्वास किया, लेकिन मुझे बड़ा अजीब लगा और मैं रोनी लगी। फिर एक टीचर ने मेरे बाल काट दिए", छात्रा ने कहा।

छात्रा ने आगे बताया, "थोड़ी देर बाद कुछ मीडिया वाले स्कूल में आए और ऑडिटोरियम में इकट्ठा हो गए। मुझे भी ऑडिटोरियम में थोड़ी देर रुकने के लिए कहा गया, उसके बाद मुझे मेरी मां के हवाले कर दिया, जिनके साथ मैं घर वापस आ गई। 2.45 बजे जब मैने टीवी ऑन किया और टीवी चैनलों में अपने स्कूल में हुई घटना के बारे में देखा, तब पता चला कि मुझे पूरे मामले का पता चला।"

उसने मुझे पहचानने से इंकार कर दिया-

छात्रा ने कहा, "शाम को मेरे पिता को एसएचओ अलीगंज की तरफ से फोन किया गया। बाद में एक महिला सब-इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल मुझे केजीएमयू ले गए। मुझे घायल छात्र के पास ले जाया गया। उसने मुझे पहचानने से इंकार कर दिया। उसके बाद मुझे घर भेज दिया गया। पुलिस देर रात तक मेरे घर पर आती रही। अगले दिन मुझे गिरफ्तार कर संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया।

आरोपी छात्रा द्वारा दिए गए उक्त बयान से इस मामले में नया मोड़ आता दिख रहा है। वहीं स्कूल व पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। गौरतलब है कि बीते मंगलवार को त्रिवेणी नगर स्थित ब्राइटलैंड स्कूल में कक्षा 1 के छात्र पर चाकू से हमला हुआ था। छात्र ने पुलिस को दिए बयान में हमले का आरोप स्कूल की ही एक छात्रा पर लगाया था। जिसके बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया।

BJP
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned