नेपाल ने अपने नये नक्शे में भारत के इलाकों को किया शामिल, चिंतित मायावती ने केंद्र सरकार से कर दी बड़ी मांग

- बसपा प्रमुख मायावती ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर भी जताई चिंता

By: Hariom Dwivedi

Updated: 01 Jun 2020, 03:35 PM IST

लखनऊ. बसपा प्रमुख मायावती ने नेपाल की हिमाकत पर चिंता जाहिर करते हुए केंद्र सरकार को सोच-विचार कर कदम उठाने को कहा है। मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा कि नेपाल ने अपने देश का नया नक्शा तैयार करके उसमें कालापानी सहित भारत के 370 किलोमीटर क्षेत्र पर अपना दावा ठोककर भारत को निश्चित ही नई दुष्कर स्थिति में डाल दिया है। ऐसे में पड़ोसी देश नेपाल के इस अनापेक्षित कदम पर केन्द्र की सरकार को जरूर गंभीरतापूर्वक सोच-विचार करना चाहिए। नेपाल की ओपी शर्मा ओली सरकार ने बीते दिनों संविधान में संशोधन का एक बिल पेश किया है, जिसके जरिये देश के राजनीतिक नक्शे और राष्‍ट्रीय प्रतीक को बदला जा रहा है। नेपाल ने नये नक्शे में भारत के तीन इलाके कालापानी, लिंपियाधुरा और लिपुलेख को अपनी सीमा में दर्शाया है। भारत सरकार ने इस पर आपत्ति जताई है।

कोरोना संक्रमण और गंभीर होने की जरूरत
एक और ट्वीट में बसपा प्रमुख ने कहा कि देश में कोरोना महामारी से पीड़ितों व उससे बढ़ती मौतों की चिन्ताओं के बीच आज 69वें दिन लाॅकडाउन-5 कुछ छुट के साथ प्रारम्भ हो गया है जो 30 जून तक चलेगा जबकि अभी भी पूरा देश कोरोना की मार से त्रस्त है तो ऐसे में केन्द्र व राज्य सरकारों को और भी ज्यादा गंभीर होने की जरूरत है।


यह भी पढ़ें : यूपी में इस खास रणनीति पर काम कर रहे सभी दल, विपक्ष को मात देने की सबकी अपनी-अपनी तैयारी

BJP
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned