माया ने लगाया चुनाव आयोग पर आरोप, अमित शाह और मोदी को बोलने की छूट, और दलित नेता पर प्रतिबंध

माया ने लगाया चुनाव आयोग पर आरोप, अमित शाह और मोदी को बोलने की छूट, और दलित नेता पर प्रतिबंध

Neeraj Patel | Publish: Apr, 15 2019 09:37:17 PM (IST) | Updated: Apr, 15 2019 09:42:29 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि मुझे दो दिन तक रैली करने और टीवी इंटरव्यू करने से रोका गया है इसलिए वह पहले बात कर रही हैं।

लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि मुझे दो दिन तक रैली करने और टीवी इंटरव्यू करने से रोका गया है इसलिए वह पहले बात कर रही हैं। इसके साथ ही मायावती ने कहा कि चुनाव आयोग के कारण बताओ नोटिस में भड़काऊ भाषण का जिक्र नहीं था। चुनाव आयोग के इस नोटिस का जवाब उन्होंने पहले ही दे दिया था। मैंने जाति-धर्म के आधार पर वोट नहीं मांगा हैं। मैंने किसी की धार्मिक भावनाओं को नहीं भड़काया है।

मायावती ने कहा है कि संविधान के तहत मुझे अपनी बात रखने से नहीं रोका जा सकता है और न ही उनके पास भाषणों की कोई सीडी है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी पार्टी की अध्यक्ष इसलिए इससे मेरा ज्यादा नुकसान हैं। चुनाव आयोग ने भाजपा के लिए आंख बंद कर रखी है। अमित शाह और पीएम मोदी को चुनाव आयोग की छूट है और दलित नेता पर प्रतिबंध।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि भाजपा हमेशा चुनावी में धार्मिक आधार पर भड़काने का प्रयास करती है। योगी जी ने इसकी शुरुआत की और अली और बजरंगबली की बात की। बसपा सुप्रीमो ने कहा योगी को न अली का न मेरी जाती से जुड़े बजरंगबली का वोट मिलेगा न अपरकास्ट का वोट मिलेगा। बसपा धर्म और जाति के नाम पर वोट नहि मांगती है और भाजपा घिनौनी राजनीति करती है। भाजपा के हथकंडे के बहकाने में न आए, मुझे अपनी कही गयी बात से नहि लगता मैंने आचार संहिता का उल्लंघन किया और न ही देवबंद में मैंने उल्लंघन किया मैंने एक ही धर्म के लोगों से वोट मांगा था न कि अलग अलग धर्म के लोगों से मांगा था। और अलग अलग जाति के लोगों से ये कहे कि आप अपना वोट नहि बाटेंगे तो ये आचार साहिता का उलंघन नहीं है।

बता दें कि चुनाव आयोग के फैसले के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ 3 दिन और मायावती 2 दिन तक कोई चुनावी सभा नहीं कर सकेंगी और न ही कोई टीवी इंटरव्यू नहीं दे पाएंगी। इसके साथ ही दोनों को कोई राजनीतिक ट्वीट नहीं करने का आदेश भी चुनाव आयोग की ओर से दिया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned